Mirzapur : प्रस्तावित मरीज घर का नाम 'स्वास्थ्य-ग्रुप' किया गया


स्वास्थ्य-दान यज्ञ शुरू


रिपोर्ट : सलिल पांडेय


मीरजापुर, (उ.प्र.) : मनुष्य का स्वास्थ्य अच्छा है तभी दुनियां अच्छी लगती है । 


विंध्यभूमि उत्तम स्वाथ्य की गारंटी वाली भूमि कही गई है


भगवान विष्णु यहां उत्तम स्वास्थ्य के लिए आए। संभवतः समुद्र-मंथन में कछुआ बन कर मन्दराचल पर्वत को पीठ पर धारण करने से स्वास्थ्य पर कोई विपरीत असर पड़ा रहा हो तो उन्होंने इसी आदिपर्वत को उत्तम स्वास्थ्य का क्षेत्र माना हो।


विष्णुजी के भव्य रूप को देखकर प्रभावित मां लक्ष्मी भी यहां आईं और गौरवर्ण के लिए मां पार्वती भी आईं। सरस्वती स्वरूपा योगमाया कंस के मार डालने की नीयत से पटके जाने पर आहत होकर यहीं आईं ।


इस महत्ता को देखते हुए पूर्ण सकारात्मक भाव से जन-जन का बेहतर स्वास्थ्य हो, शासन की अधिकाधिक सुविधाएं जन-जन को मिले, स्वास्थ्य-सेवा में आने वाली विसंगतियों का चिकित्सकीय दायित्व की तरह आपरेशन हो, इसी भाव से यह ग्रुप बनाया जा रहा है।


जो लोग अन्नदान, धनदान, वस्त्रदान से भी श्रेष्ठ स्वास्थ्य-दान मानते हैं, उन्हें इस ग्रुप से सम्बद्ध करने की योजना है।


इस ग्रुप में मरीज तो अपनी समस्या लिखें ही, साथ में चिकित्सकों से अनुरोध है कि वे भी चलता-फिरता सलाह केंद्र मानकर इससे जुड़ें ताकि वे भी स्वास्थ्य-दान यज्ञ में भूमिका अदा कर सकें ।


स्वास्थ्य विभाग के प्रशासनिक तंत्र से अपेक्षा है कि वे जनता को मिलने वाली सुविधाओं से अवगत कराते रहें और जनता की समस्याओं को गंभीरता से लेकर त्वरित निराकरण के लिए कदम उठाएं, क्योंकि पल भर की स्वास्थ्य-पीड़ा असहनीय होती है।


जो हम बांटते हैं, वह कई गुणा वापस मिलता है। जैसे किसान एक कुंतल धरती को बीज दान देता है तो धरती कई गुणा वापस करती है। मदद से आत्मिक प्रसन्नता बोनस के रूप में मिलती है।


ह्वाट्सएप ग्रुप - 9415680176


Comments