Mirzapur : पैतृक सम्पति की आग में मिटा डाला जन्मदाता का बजूद


अहरौरा थाना क्षेत्रांतर्गत खाजगीपुर में हुई रामवृक्ष पटेल की हत्या का पुलिस ने किया अनावरण


रिपोर्ट : संस्कार सिंह


मीरजापुर, (उ.प्र.) : जनपद के थाना अहरौरा क्षेत्रांतर्गत खाजगीपुर गांव में 29 अगस्त 2020 को रामवृक्ष पटेल 55 वर्ष की धारदार हथियार से प्रहार कर हत्या कर दी गयी थी, जिसके संबंध में मृतक की पत्नी बिन्दो देवी की तहरीर के आधार पर धारा 302 भा0द0वि0 बनाम 2 अज्ञात अभियुक्तगण के पंजीकृत किया गया था। विवेचना व भौतिक साक्ष्यों व पतारसी सुरागरसी से यह ज्ञात हुआ कि उक्त घटना में परिवार के किसी सदस्य का आपराधिक कृत्य है, साक्ष्यों के प्रमाणित होने पर कि मृतक के पुत्र जयहिन्द पटेल उर्फ दादा ने ही अपने साथी अजीत कुमार मौर्या के साथ मिलकर पिता की हत्या, पैतृक सम्पति में हिस्सा न पाने की रंजीश की वजह से ही की है। छापे मारी के दौरान 31 अगस्त को सवा आठ बजे अभियुक्त जयहिन्द पटेल व अजीत कुमार मौर्य को आनन्दीपुर तिराहे से गिरफ्तार कर जयहिन्द की निशानदेही पर घर के कमरे में से ही लकड़ी के पाटन के उपर छुपा कर रखे गये आलाकत्ल लोहे के रम्मे को बरामद किया गया।


पूछताछ के दौरान अभियुक्त जयहिन्द पटेल ने बताया कि मै मृतक का छोटा पुत्र हु बाहर काम करता था पर नशे की वजह से मै अपने पिता से अपना हिस्सा मांग रहा था, पर नशेड़ी होने के कारण मेरे पिता रामवृक्ष पटेल बटवारा नही करना चाहते थे, जिससे मुझे काफी रंज था इस पर मै अपने मित्र अजीत कुमार मौर्या के साथ मिलकर हत्या का योजना बनाया, क्योकि उनके जीवित रहते हिस्सा मिलना मुश्किल था। अत: घटना की रात्रि रम्मा से अपने मित्र के साथ मिलकर अपने पिता की रात में ट्यूबेल पर सोते समय हत्या कर दी और अपने पुश्तैनी घर मे आकर रम्मा पाटन पर छुपा दिया, इस दौरान मेरी मां बिन्दो देवी को मेरा मित्र अजीत मौर्या गले से पकड़कर मुंह को हाथ से दबाये हुए था।


घटना के अनावरण कर गिरफ्तारी व बरामदगी में थाना अहरौरा थानाध्यक्ष राजेश जी चौबे, उ0नि0 वीरेन्द्र सिंह, का0 भानू प्रताप यादव, सतीश पाल व मनीष सिंह, प्रभारी स्वाट टीम उ0नि0 रामस्वरूप वर्मा, का0 बृजेश सिंह, विरेन्द्र सरोज, राज सिंह राणा, राजेश यादव, रविसेन सिंह व संदीप राय, सर्विलांस टीम के का0 नितिल सिंह तथा एस0ओ0जी0 टीम के उ0नि0 जयदीप सिंह, लालजी यादव, अजय यादव व मनीष सिंह का योगदान सराहनीय रहा। घटना का अनावरण कर गिरफ्तारी व बरामदगी करने वाली पुलिस टीम को ₹ 10000/- के पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया।


Comments