लव मैरेज के परिणाम मे अपहरण ! मुकदमे में पुलिस पर लीपापोती का लग रहा आरोप


न्याय के लिए पीड़ित के परिजनों ने पुलिस के खिलाफ पुलिस महानिदेशक को लिखा पत्र


मीरजापुर, (उ.प्र.) : 5 दिन तक अपहरणकर्ताओं के चंगुल में रहने के बाद मुक्त हुआ शुभम जायसवाल के मुकदमे में पुलिस पर लीपापोती का आरोप लगाया जा रहा है। इसके लिए शुभम के परिजनों ने पड़री पुलिस के खिलाफ पुलिस महानिदेशक उ0प्र0 शासन को पत्र लिखा है। पत्र के मुताबिक थानाध्यक्ष पड़री द्वारा मुकदमा अपराध संख्या  0154/2020 के मामले में थाना पड़री पुलिस ने शुभम जायसवाल पर दबाव बनाकर प्रार्थी की सही बात को ना लिखकर पुलिस ने अपने मुताबिक जबरन तहरीर लिखवाया फिर उसी तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया। जबकि शुभम जायसवाल के मुताबिक घटना बहुत ही संगीन था। गंभीर धाराओं में लड़की पक्ष के ऊपर व अपहरणकर्ताओं पर पुलिस को मुकदमा कायम करना चाहिए था। शुभम के अपहरण के बाद शुभम को तमाम शारीरिक व मानसिक यातनाएं दी गई।


जिले के थाना को देहात क्षेत्रांतर्गत भरूहना चौराहा निवासी शुभम जायसवाल (26) पुत्र अशोक जायसवाल 5 दिन तक अपहरणकर्ताओं के चंगुल में था। शुभम जायसवाल की माने तो 26 अगस्त 2020 को आपसी प्रेम व सहमति से निहारिका निवासिनी थाना कोतवाली कटरा के साथ हिंदू रीति रिवाज के साथ शुभम जायसवाल ने विवाह किया था। शुभम के मुताबिक इस विवाह की जानकारी जैसे ही निहारिका के परिवार वालो को हुई तो वे लोग शुभम जायसवाल की हत्या करने की धमकी देने व दिलवाने लगे। शुभम के मुताबिक लड़की पक्ष के लोगो को काफी समझाने का प्रयास किया गया, लेकिन पत्नी पक्ष के लोग बहुत आक्रोशित थे और लगातार मेरा अपहरण कर हत्या करने की धमकी देने लगे।


पत्र के मुताबिक शुभम व निहारिका दोनो ने पिछले पाच वर्षों से आपसी प्यार के दौरान विवाह किया। लड़की पक्ष उक्त विवाह के खिलाफ था। लड़की पक्ष के द्वारा  धमकी दी  जा रही है कि तुम्हारे कारण समाज में मेरे परिवार की बदनामी हो रही है, इसी बात की रंजिश को लेकर लड़की के परिवार के तीन व्यक्ति  4 सितम्बर 2020 करीब 3-4 बजे दोपहर के बीच भवानी देवरी से शुभम का मुह दबाकर अपहरण कर लिया और किसी अज्ञात सुनसान कमरे में बन्द कर दिया और शुभम का दोनो मोबाइल एवं जेब में रखा लगभग पाच हजार रुपया लूट लिया। अगले दिन देर रात्रि में किसी चार पहिया वाहन में शुभम का हाथ मुंह, आंख, बाधकर पीछे की डिग्गी में लाद दिया और कही दूर सुनसान अज्ञात स्थान पर कमरे में बन्दकर शुभम को बहुत मारा-पीटा गया, सिगरेट से पूरे शरीर को दाग दिया। उस स्थान पर तीन अज्ञात लोगो के अलावा लड़की के मामा  व उनका लड़का भी आये और शुभम को काफी  मारा-पीटा एवं हत्या करने की धमकी दिया।


शुभम के अनुसार उनके द्वारा आपस में बातचीत की जा रही थी कि फूफा  का आदेश मिलते ही शुभम की  हत्या कर इसकी लाश को ठिकाने लगा दिया जायेगा। किसी प्रकार से जान बचाने में कामयाब शुभम व उसके परिजनों का आरोप है कि पुलिस शुरू से ही मामले की लीपापोती करने में जुटी है। जिस दिन शुभम का अपहरण हुआ उस दिन पुलिस को जब जानकारी दी गई तो इतनी संगीन और गंभीर मामलों में पुलिस ने सिर्फ गुमशुदगी का रिपोर्ट कायम किया। शुभम के दिए गए प्रार्थना पत्र के अनुसार शुभम को आशंका है कि विपक्षी राजनैतिक तरीके से अत्यंत प्रभावशाली रूप से पुलिस पर अनुचित दबाव डाल सकते हैं और हो सकता है कि उल्टा शुभम व उनके परिजन को फंसाने के लिए विभिन्न गंभीर धाराओं में मुकदमा भी लिखवा सकते हैं। शुभम ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र में न्याय की गुहार लगाई है और कहा है कि किसी तेजतर्रार और ईमानदार अधिकारी से निष्पक्ष जांच कराई जाए जिससे अपराध करने वालों का हौसला टूटे और वह सलाखों के पीछे जाए।


आरोप है कि जब 9 सितंबर को शुभम सुबह 5 बजे ही पुलिस की बरामदगी में था तो बरामदगी के 17 घंटे तक अपहरणकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा क्यों नहीं लिखा गया? मुकदमा लिखा जाए कि ना लिखा जाए या समझौता कराया जाए इस विषय पर मैराथन मंथन थाने पर क्यों की गई थी? शिवम के परिजनों का आरोप है कि क्यों हल्की धाराओं में देर रात मुकदमा कायम किया गया था। क्यों पांच बार तहरीर बदलवा बदलवा कर लिखवाया गया। अपहरण वाले दिन ही क्यों नहीं अपहरण का मुकदमा कायम किया गया। हालांकि शुभम जायसवाल का अपहरणकर्ताओं के चंगुल से जिंदा बच पाने के पीछे भी शुभम के परिजन पुलिस की कार्यशैली की प्रशंसा भी करते नजर आए। परिजनों के मुताबिक यदि देहात कोतवाली ने अपहरणकर्ताओं के परिजनों के ऊपर दबाव न बनाया होता तो शायद शुभम जिंदा ना बच पाता।


Comments
Popular posts
Mumbai : ‘काव्य सलिल’ काव्य संग्रह का विश्व पर्यावरण दिवस पर विमोचन और सम्मान पत्र वितरण समारोह आयोजित
Image
Mumbai : महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी पर्यावरण विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष साहेब अली शेख, मुंबई अल्पसंख्यक अध्यक्ष व नगर सेवक हाजी बब्बू खान, दक्षिणमध्य जिलाध्यक्ष हुकुमराज मेहता ने किया वृक्षारोपण
Image
New Delhi :पर्यावरण संरक्षण महत्व व हमारा अस्तित्व पर 'एम वी फाउंडेशन' द्वारा विराट कवि सम्मेलन का आयोजन
Image
पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी के लिए केंद्र नहीं राज्य सरकार जिम्मेदार : भवानजी
Image
मानव पशु के संघर्ष पर आधारित फिल्म 'शेरनी' मेरे दिल के करीब है – विद्या बालन
Image