गैंग के खिलाफ मकोका की कार्रवाई का आदेश


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


पुणे : पुलिस रिकॉर्ड पर दर्ज शातिर बदमाश सचिन साठे और उसकी गैंग के खिलाफ पिंपरी चिंचवड़ पुलिस ने मकोका यानी महाराष्ट्र संगठित अपराध प्रतिबंध कानून 1999 के तहत कारवाई की है। वाकड पुलिस के रिकॉर्ड पर दर्ज यह शातिर गैंग वाकड थाने के परिक्षेत्र में अपने वर्चस्व और आर्थिक लाभ के लिए आपराधिक वारदातों को अंजाम देती रही है, ऐसा पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में कहा है।


जिनके खिलाफ मकोका की कार्रवाई की गई है उनमें गैंग का सरगना सचिन सोनु साठे (26, निवासी गणराज कालोनी, कालेवाडी, वाकड, पुणे), उसके साथी किशोर ऊर्फ गुड्डया ज्ञानदेव शेलार (25, निवासी दुर्गा कॉर्नर, साई भुषण बेकरी के सामने, लिंक रोड, चिंचवड, पुणे), सीजीन फिलीप जॉर्ज (26, निवासी ज्योतीबा मंगल कार्यालय के पीछे, कालेवाडी, वाकड, पुणे), रोहीत लल्लन सिंह (22, निवासी पवनानगर कालोनी नं. 2, कालेवाडी, वाकड, पुणे) का समावेश है। साठे और उसकी गैंग ने 5 जून को एक 18 वर्षीय युवक की निर्ममता से हत्या की थी। वाकड पुलिस थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक डॉ विवेक मुगलीकर ने पुलिस उपायुक्त विनायक ढाकणे के जरिए साठे और उसकी गैंग के खिलाफ मकोका के अंतर्गत कारवाई करने का प्रस्ताव अपर पुलिस आयुक्त रामनाथ पोकले के पास भेजा था। क्राइम ब्रांच के पीसीबी शाखा के पुलिस निरीक्षक राजकुमार शिंदे, कर्मचारी सचिन चव्हाण ने इस प्रस्ताव को अंतिम रूप दिया। इसके बाद अपर पुलिस आयुक्त पोकले ने उक्त गैंग के खिलाफ मकोका की कार्रवाई करने के आदेश दिए। सहायक पुलिस आयुक्त श्रीधर जाधव मामले की छानबीन में जुटे हैं।


Comments