एम-पूर्व विभाग में गहराती ट्रैफिक समस्या का जिम्मेदार कौन ? आखिर किसके संरक्षण में फल फूल रहा है अवैध पार्किंग का धंधा !


अवैध पार्किंगों पर आखिर कब करेगा करवाई ?


मुंबई : मनपा एम पूर्व विभाग में अवैध पार्किंग की बढ़ती जनसंख्या के आगे मनपा की अधिकृत पार्किंग दिन ब दिन सिमटती जा रही है। जिससे मनपा को लाखो रुपए का सरकारी राजस्व का घाटा उठाना पड़ रहा है। दूसरा चोरो के लिये चोरी कर के वाहनो को छुपाने के सबसे बढ़िया ठिकाना है। वहीं नशेड़ियों के लिये ऑटो टैक्सी, बड़े चार पहिया वाहन नाशा करने का बहुत बढ़िया छुपकर नशा करने के ठिकाने के तौर पर सामने आया है।


कहा जाता है कि शिवाजी नगर-मानखुर्द विधानसभा क्षेत्र में बिजली, अवैध जल कनेक्शन, भवन निर्माण करने वाले वाले ठेकेदार जैसे दबंग प्रवृत्ति के गुंडों के हाथों में पहुंच गई है अवैध पार्किंग का धंधा। सूत्रों के अनुसार इन गुंडों को संरक्षण मनपा सहित मुंबई ट्रैफिक पुलिस की आपसी सहमति के धन कामने के लिये जुगल बंदी के कारण इनको संरक्षण दे रखा है। कहा जाता है कि विधानसभा क्षेत्र के भीतरी रहवासिय भागो में जैसे हुड्डा होटल के सामने रोड नंबर .6 पर भंगार गाड़ियों की लगने वाली पार्किंग का हफ्ता मनपा से लेकर मुंबई ट्रैफिक विभाग वसूली कर के ले जाते है। गाड़ी मालिको के अनुसार जब बीएमसी और मुंबई ट्रैफिक को बराबर हर महीने का हफ्ता जा रहा है तो भला में क्यों गाड़ियां हटाऊँ। वहीं अवैध पार्किंग के लिये शिवाजीनगर का 90 -फिट रोड अवैध पार्किंग के लिये मशहूर है।



उल्लेखनीय तौर पर 7 किलोमीटर क्षेत्री घाटकोपर-मानखुर्द लिंक रोड पर छेड़ा नगर से लेकर मानखुर्द टी सिग्नल व विशेषकर पीएमजी सिग्नल ,एम पूर्व वार्ड के भीतरी कब्रस्तान वाले रोड के हिस्सो में लगने अधिकतर पार्किंग अवैध है। मनपा और पुलिस का संबंधित विभाग के अधिकारी अधिकृत और कितनी अवैध पार्किंग एम पूर्व विभाग में संचालित हो रही है इसका आज तक खुलासा नहीं किया है। मामले में क्षेत्रिय ट्रैफिक पुलिस के वरिष्ठ निरक्षक तथा मनपा के संबंधित विभाग के अधिकारियों से अधिक जानकारी के लिये संपर्क करने पर संपर्क नही हो पाया।


इतना ही नहीं क्षेत्रीय रिक्शा चालकों की पार्किंग, रेती माफियाओं से लेकर वाशी की गाड़ियों के मालिक अपनी चार पहिया वाहनों को लिंक रोड पर ही स्थानीय मुंबई ट्रैफिक पुलिस के संरक्षण में बेलगाम तरीके से गाड़ियां पार्क करते चले आ रहे है।एक गाड़ी मालिक ने कहा कि बीएमसी और मुंबई ट्रैफिक पुलिस का सिर्फ एम पूर्व से  करोड़ो रुपए का हफ्ता मुंबई ट्रैफिक विभाग से लेकर मनपा को जाता है। इसलिए आज तक क्षेत्र की ट्रैफिक व्यवस्था पर राज्य की महाविकास आघाडी उद्धव ठाकरे की सरकार ध्यान नहीं देती है। परिणाम स्वरूप वर्तमान लॉक डाउन के समय मे सुबह से शाम के बीच लगने वाली ट्रैफिक समस्या एक लाइलाज बीमारी बन चुकी है।


Comments
Popular posts
Mumbai : ‘काव्य सलिल’ काव्य संग्रह का विश्व पर्यावरण दिवस पर विमोचन और सम्मान पत्र वितरण समारोह आयोजित
Image
New Delhi :पर्यावरण संरक्षण महत्व व हमारा अस्तित्व पर 'एम वी फाउंडेशन' द्वारा विराट कवि सम्मेलन का आयोजन
Image
Mumbai : महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी पर्यावरण विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष साहेब अली शेख, मुंबई अल्पसंख्यक अध्यक्ष व नगर सेवक हाजी बब्बू खान, दक्षिणमध्य जिलाध्यक्ष हुकुमराज मेहता ने किया वृक्षारोपण
Image
मानव पशु के संघर्ष पर आधारित फिल्म 'शेरनी' मेरे दिल के करीब है – विद्या बालन
Image
पावस ऋतु के स्वागत में ‘काव्य सृजन’ की ‘मराठी काव्य’ गोष्ठी
Image