ढेड सौ से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज खंगालकर झपटमार को दबोचते हुए एक साथ 33 घटनाओं का किया खुलासा


रिपोर्ट : अनिता गुलेरिया


द्वारका नॉर्थ थाने में सेक्टर.16 की महिला निवासी ने शिकायत दर्ज कराई कि जब वह अपनी मां के साथ ई रिक्शा से घर जा रही थी,तभी पटेल गार्डन के बॉम्बे बाजार के पास मोटरसाइकिल सवार दो झपटमार महिला के गले से सोने की चेन छीनकर मौके से पीपल चौक की तरफ फरार हो गए ।


शिकायत के आधार पर द्वारका एसीपी राजेंद्र सिंह के दिशा निर्देशानुसार एसएचओ विजेंद्र सिंह की अगुवाई में क्रैक टीम के एसआई सतीश यादव, एसआई वीर सिंह, हेड कांस्टेबल जितेंद्र, कुलदीप, नवीन, रवि प्रकाश, कांस्टेबल राजूराम, सुनील कुलदीप, बच्चू, महिला हेड कांस्टेबल गुमानी की टीम ने तत्परता दिखाते हुए पच्चीस किलोमीटर दायरे तक इलाके के डेढ़ सौ के करीब सीसीटीवी फुटेज खंगालते हुए (झपटमार) मोटरसाइकिल सवार जो हेलमेट पहने हुए थे, लुटेरो का चेहरा साफ नजर नहीं आ रहा था फिर भी पुलिस ने उस फोटोग्राफ के जरिए स्थानीय जानकारी जुटानी शुरु की जिसके चलते पुलिस को सुबह छह बजे के करीब एक इसी तरह की मोटरसाइकिल दास गार्डन बापरोला मे खड़ी होने की सूचना मिलते ही पुलिस ने बिना समय गवाएं दास गार्डन बापरोला पर जाल बिछाते हुए सूचना धारक द्वारा पहचानकर इशारा करते ही लुटेरे-आरोपी को दबोच लिया गया। अभियुक्त द्वारा पलसर मोटरसाइकिल चेकिंग दौरान किसी तरह के कागजात नहीं दिखा पाने पर शक होने पर पुलिस-जांच में चोरी की पल्सर मोटरसाइकिल जो कुछ दिन पहले द्वारका से चुराई गई थी। उसे जब्त करते हुए, आरोपी को पुलिस हिरासत में ले लिया। 


द्वारका उपायुक्त अंटो अलफोंस अनुसार पकड़े गए अभियुक्त की पहचान प्रमोद उर्फ बाली उम्र (30) दास गार्डन, बापरोला विहार नंगली डेयरी निवासी है। आरोपी पहले से चोरी-लूटपाट, झपटमारी व आर्म्स-एक्ट के 70 मामलों में लिप्त है। यह सभी मामले रनहोला थाना के अलावा अलग-अलग थानों में दर्ज है। पुलिस कड़ी पूछताछ दौरान आरोपी ने अपना गुनाह कबूलते हुए बताया वह चोरी की मोटरसाइकिल पर एक ब्लैक कलर का बड़ा स्पीकर टंकी के ऊपर लगा कर रखा था और जाली नंबर प्लेट भी लगा रखी थी। अपने अन्य साथी चेतन पांडे और नितिन के साथ मिलकर चोरी लूटपाट जैसी वारदातों को अंजाम देता था। आरोपी प्रमोद की मुलाकात चेतन पांडे जो (पालम गांव) थाने का घोषित अपराधी है, दूसरा नितिन (बाबा हरिदास नगर) थाने का घोषित अपराधी से जुडिशल-कस्टडी मे हुई थी। तीनों एक साथ मिलकर लॉकडाउन दौरान से झपटमारी जैसी वारदातों को अंजाम देते आ रहे थे। चोरी की गई सोने की चेन को बेचकर मिले पैसों से चेतन पांडे शिव विहार नगली डेरी से ड्रग्स खरीदता था। द्वारका पुलिस ने आरोपित-लुटेरे से दो सोने की चेन बरामद करते हुए लूटपाट के तैंतीस (33) केसो का एक साथ सुलझाया है। जो अपने आप में बड़ी कामयाबी है, द्वारका पुलिस द्वारा मामलों को ध्यान में रखते हुए आईपीसी की धारा के तहत आरोपित-लूटेरे से आगे की गहन तफ्तीश जारी है, ताकि इसके अलावा अन्य लूटपाट-वारदातों का खुलासा हो सके। द्वारका डीसीपी अंटो अलफोंस ने लूटपाट वारदातो का बडे स्तर पर एक साथ खुलासा होने पर द्वारका पुलिस की सजग-कार्यशैली के प्रति सराहना व्यक्त करते हुए अत्यंत काबिले तारीफ बताया।


Comments