बरसात के मौसम में भी मानखुर्द की उत्तर भारतीय बाहुल्य बस्तियों में पानी की घोर किल्लत


पानी समस्या जल्दी हाल न होने किं सुरत में ग्रेट फाउंडेशन ने दिया आंदोलन का इशारा


मुंबई : मनपा प्रशासन की ओर से जहाँ एक तरफ पेयजल आपूर्ति करने वाली झीलों के लबालब भर जाने का दावा किया जा रहा है, वहीं मनपा एम पूर्व विभाग के अंतर्गत आने वाले मानखुर्द मंडाला की उत्तर भारतीय बाहुल्य बस्तियों में बरसात के इस मौसम में भी पानी की घोर किल्लत व्याप्त है।उसके बाद भी मनपा एम पूर्व वार्ड का जल विभाग हाथ पर हाथ धरे बैठा है। लगातार 10 दिनों से मौसम ने करवट लेते ही ठण्डा बरसात का मौसम वातावरण पर्यावरण में एका एक आग उगलने लगा अप्रैल मई महीने की आग उगलती गर्मी से बदहवास कर रखा है ।वही दूसरी और मानखुर्द मंडाला की स्थानिक जनता की पेय जल समस्या को लेकर अगर माने तो पेय जल से त्रस्त जनता की शिकायत है कि पिछले दस दिनों से शुद्ध पेय जल की आपूर्ति समय से नहीं हो पा रही है ,बगैर किसी पूर्व सूचना के पानी की जमकर कटौती  कर रहे है। एम-पूर्व मनपा जल विभाग के अधिकारियों द्वारा पानी की कटौती के कारण पानी वक़्त से पहले चला जा रहा है, जिससे क्षेत्री राहीवासियो आखिर तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। वार्ड क्रमांक 135 की पेय जल की बढ़ती शिकायतों के कारण मुंबई कांग्रेस पार्टी ईशान्य मुंबई अल्पसंख्यक विभाग के उपध्क्षय सहित ग्रेट समाजिक संस्था के अध्क्षय  सैयद हासिम ने मंडाला की झोपड़ियों में रहने वाली गरीब जनता के साथ मनपा सौतेला व्यवहार क्यों कर रही है? क्यों कर रही है पानी की कटौती जब पर्यापत मात्रा में उस वर्ष लाबा लबब भर चुके है मुंबई की पानी आपूर्ति करने वाली झील। आखिर किसके इशारे पर बकाया वार्डो को छोड़कर किया जा रहा है वार्ड क्रमांक 135 में पेय जल कटौती ?


भविष्य में एम पूर्व जल विभाग के अधिकारी रंजीत चौहान अगर पेय जल समस्या को दूर नहीं करते तो मानखुर्द मंडाला की जनता के साथ सड़को पर ग्रेट सामाजिक संस्था उतरेगी आंदोलन करने के लिये ,ऐसा इशारा चेतावनी भरे लहजे में ग्रेट सामाजिक संस्था व ईशान्य मुंबई कांग्रेस पार्टी अल्पसंख्यक विभाग के उपध्क्षय सैयद हासिम ने दिया है ।गौरतलब हो कि पेय जल समस्या मामले पर संबंधित वार्ड की शिवसेना नगरसेविका समीक्षा सक्रे से लगाकर एम पूर्व जल विभाग के मुख्य अभियंता रंजीत चव्हान से केकर एम पूर्व के सहायक अभियंता सुधांशू द्विवेदी से संपर्क कर पेय जल कटौती की समस्या से अवगत करने की कोशिश करने पर संपर्क नहीं हो सका।


Comments