अंकुरित चना व फल देकर बढ़ाई जा रही है कोविड मरीजों की इम्युनिटी


रिपोर्ट : टी0सी0विश्वकर्मा


मीरजापुर, (उ0प्र0) : कोविड-19 के मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में अंकुरित चना व फल देकर उनकी इम्युनिटी बढ़ाया जा रहा है। उनके खाने में भी इम्युनिटी युक्त भोजन देने का विभाग के तरफ से पूरा प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश सरकार व विभाग की ओर से भी उनके खाने व नाश्ते के लिए सौ रूपये प्रतिदिन निर्धारित किया गया है।


अपर मुख्य चिकित्साधिकारी/नोडल अधिकारी डाक्टर अजय ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने मण्डलीय चिकित्सालय में स्थित 150 बेड का आइसोलेशन वार्ड में मरीजों के लिए इम्युनिटी बढ़ाने के लिए 100 रूपये प्रतिदिन निर्धारित किए गये है। इसी खर्चे में भोजन व नाश्ते की पैंकिग भी है। इसमें दो समय भोजन व नाश्ता देने की व्यवस्था विभाग की ओर से किया जा रहा है। लेकिन इस मंहगाई के समय में दो बार भोजन व नाश्ता दे पाना मुश्किल है। इसके बावजूद जिला प्रशासन व विभाग की मदद से मरीजों को अंकुरित चना व फल देकर उनके इम्युनिटी को मजबूत कर उनको स्वस्थ्य बनाने में लगा है। मरीजों को खाने में अरहर की दाल, चावल, रोटी, सब्जी शाम को फल एवं रात के खाने में पौष्टिक चाजों को प्रमुखता के आधार पर दिया जा रहा है। अंकुरित चना व फल से पाचन दुरुस्त होता है। इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है।


कोविड-19 की रिपोर्ट मोबाइल पर होगी उपलब्ध, कोरोना संक्रमण की संख्या को देखते हुए विभाग ने लिया निर्णय


कोविड 19 के तहत प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण के जांच का दायरा बढ़ाया है, साथ ही अब यह व्यवस्था सुनिश्चितकी गई है कि कोरोना की जांच रिपोर्ट अब घर बैठे मोबाइल पर ही देखा जा सकेगा, इसके पहले कोरोना की जांच कराने वाले व्यक्ति को संक्रमित होने की सूचना कोविड कंमाड कंट्रोल सेंटर या स्वास्थ्य केन्द्र के माध्यम से उपलब्ध कराया जाता रहा है।


जिला कार्यक्रम प्रबन्धक अजय सिंह ने बताया किकोरोना संक्रमण की संख्या को देखते हुए प्रदेश सरकार कीओर से कोरोना रिपोर्ट के लिए मोबाइल एप लिंक को जारीकिया गया है। इसमें कोरोना संक्रमित का सैंपल लेते समयजिस मोबाइल नं0 को पंजीकृत किया जायेगा उसी नं0 पररिपोर्ट आने पर ओ0टी0पी0 भेजा जायेगा। विभाग द्वारा जारीलिंक पर ओटीपी नंबर डालते ही कोरोना संक्रमित मरीज कोतुरन्त उसको रिपोर्ट मोबाइल पर मिल जायेगा।


मरीजों को नहीं लगाना पड़ेगा विभाग का चक्कर


सैपलिंग देने के बाद लोगों को कोरोना सेंटर या स्वास्थ्य केन्द्रों पर रिपोर्ट के लिए सम्पर्क करना पड़ता था लेकिन विभाग द्वारा जारी किये गये लिंक के जरिये पर कोरोना रिपोर्ट मोबाइल पर ही देखा जा सकेगा।


लिंक तैयार करने का मुख्य उद्देश्य


अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाक्टर अजय ने बतायाकि सैपलिंग कराने वाले रिपोर्ट जानने के लिए अत्यधिकउत्सुक होते हैं, लेकिन इस लिंक के आ जाने से अब कोरोनाटेस्ट कराने वाले व्यक्ति घर पर ही बैठे अपनी रिपोर्ट को देखसकेगे, इसके लिए विभाग द्वारा जारी किया गया लिंक https://labreports.upcovid19tracks.in/ लिंक पर क्लिक करना होगा, कोविड केसैपलिंग के दौरान लोगों से मोबाइल नंबर लिया जाता है, इसनंबर को व्यक्ति के सैंपल के साथ दर्ज कर दिया जाता है, टेस्टकरवाने वाले व्यक्ति को दिए गये लिंक पर क्लिक करके सैंपलकलेक्शन का दिनांक व मोबाइल नंबर को एन्ट्री करनी होगी,वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) सैंपल के साथ दर्ज किए गएमोबाइल नंबर पर ही आएगा, यह ओटीपी डालते ही संबधितव्यक्ति की रिपोर्ट मोबाइल की स्क्रीन पर दिखने लगेगी।


 


Comments