आयरन की कमी से कमजोर होती है इम्युनिटी, लें संतुलित आहार


वैश्विक महामारी के दौर में कमजोर इम्युनिटी वाले व्यक्तियों पर संक्रमण का खतरा सबसे अधिक 


रिपोर्ट : टी.सी.विश्वकर्मा 


मीरजापुर, (उ0प्र0) : कोविड-19 के इस दौर में आयरन की कमी वाले व्यक्तियों पर संक्रमण का खतरा अधिक बना होता है। आयरन शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने का काम करता है। हमारे शरीर में आयरन की कमी होने से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कमजोर हो जाती है जिससे हम बीमारियों का शिकार बन जाते हैं। कोविड जैसे वैश्विक महामारी के इस दौर में ये सबसे ज्यादा खतरनाक हो जाता है। ऐसे में इन दिनो एनिमीक व्यक्तियों को अत्यन्त सर्तक रहने की आवश्यकता है।


सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जमालपुर के प्रभारी चिकित्साधिकारी डाक्टर राजन ने बताया कि आयरन हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं बनाते हैं, कोशिकाएं हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन बनाने का कार्य करती हैं और हीमोग्लोगिन ही फेफड़ों से आक्सीजन लेकर खून में पहुंचाता है। हीमोग्लोगिन कम होने से शरीर में आक्सीजन में कामी होने लगती है और अगर व्यक्ति एनीमिक है तो उसे सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। अब तक सामने आया है कि कोविड-19 हमारे श्वसन तंत्र को प्रभावित कर रहा है। ऐसे में यह एनीमिक लोगों के लिए घातक साबित हो सकता है।


सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र चुनार के प्रभारी चिकित्साधिकारी डाक्टर उमेश का कहना है कि हीमोग्लोगिन कम होने से शरीर में आॅक्सीजन की कमी हो जाती है। इस स्थिति में किसी भी संक्रमण होने का खतरा भी काफी ज्यादा बढ़ जाता है। व्यक्ति के शरीर में खून की कमी होने से व्यक्ति की इम्युनिटी अत्यन्त कमजोर हो जाती है। एक स्वस्थ्य महिला में हीमोग्लोगिन की मात्रा 12 ग्राम प्रति डेसीलीटर और पुरूषों में 14 ग्राम प्रति डेसीलीटर होना चाहिए। 


एनीमिया की समस्या सबसे ज्यादा महिलाओं में


अधिकांश महिलाओं में खून की कमी पाई जाती है जो व्यक्ति अपने खान-पान का ध्यान नहीं रखता हैं उसमें यह समस्या हो सकती है यही कारण हे कि लोगों को संतुलित भोजन लेने का परामर्श डाक्टरों द्वारा बराबर दिया जाता है। कोविड जैसे महामारी के दौर में इसका सबसे ज्यादा ध्यान रखने की जरूरत है। 


व्यक्ति के शरीर में खून के कमी के लक्षण



  • मुठ्ठी बांधने पर नाखून का रंग पीला पड़ने लगता है।

  • गाल व चेहरे की लालिमा कम होने लगती है।

  • व्यक्ति को हर समय कमजोरी सिर में दर्द बना रहता है।

  • सांस लेने में भी समस्या होने लगती है।

  • तलवा व हथेली भी कभी-कभी ठंडा पड़ जाता है। 


खून की कमी को ऐसे करें दूर



  • संतुलित आहार का सेवन करें

  • गर्भावस्था के दौरान फलोरिक एसिड के साथ मल्टीविटामिन लें।

  • मटर, सरसों, पालक, बथुआ जैसी हरी सब्जियां और गुड़ खाएं।

  • अनार, सेब, जैसे मौसमी फलों का सेवन करें।


 


Comments