12 लाख नागरिकों को मौत के मुँह में धकेल रही है एस.एम.एस कंपनी


सपा विधायक ने मानसून सत्र में उठाया मुद्दा, कहा राज्य सरकार तुरंत बंद करे एसएमएस कंपनी


रिपोर्ट : यशपाल शर्मा


मुंबई : गोवंडी में चल रहे एसएमएस कंपनी की जहरिले प्रदूषण ने गोवंडी के 12 लाख लोगों को मौत के मुंह में धकेल दिया है। ऐसे कंपनी को तुरंत बंद किया जाए यह मांग मानसून सत्र में सपा विधायक अबू आसिम आज़मी ने विधानभवन में बैनर लहराकर की। वहीं रंकापा भी कूद गई मैदान में रंकापा ईशान्य मुंबई जिला उपाध्यक्ष शाहिद शेख ने राज्य की सत्ता में विराजमान महाविकास आघाडी की गठबंधन सहयोगी रंकापा से इससे मुद्दे पर गंभीरता दिखाते हुए 12 लाख नागरिकों की जान बचाने के लिये कड़े कदम उठाने के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से अनुरोध किया है।


प्रदूषण का स्तर दिन ब दिन जहीरीला होने के कारण क्षेत्र में नागरिकों की बढ़ती मौतों और कब्रस्तानो में दफनाने के लिये शव को जगह न होने से चिंता दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। वहीं गौरतलब हो कि पूर्व में भी एसएमएस कंपनी को लेकर किये गये सपा के आंदोलन को लेकर विपक्षि पार्टियों ने अबु असीम आज़मी को निशाने पर ले लिया कि सिर्फ उपचुनावों सर पर होने के कारण राजनीतिक मुद्दे बनाकर जनता से वोट मंगाने के लिये एसएमएस कंपनी के जहीरले प्रदूषण को मुद्दा बनाने का आरोप जड़ा था, जिस पर साफाई देते हुए कहा कि विपक्षियों पार्टियों का काम ही है आरोप लगाना।


इस विषय पर बोलते हुए अबू आज़मी ने कहा के गोवंडी में चल रहे एस एम एस कंपनी में मुंबई के सारे अस्पताल का कचरा, खराब दवाइयां, ऑपरेशन के पार्ट्स, इंजेक्शन तथा अन्य केमिकल के पदार्थ जलाए जाते है। जिसे विभाग में बड़े पैमाने में जहरीली हवा फैलने की वजह से दिनों दिन बढ़ते जा रहा है और एक रिपोर्ट के अनुसार यहां के विभाग में रह रहे लोगों का जीवनमान प्रदूषण से 39 साल का हो गया है। ऐसे जहरीली कंपनी को जल्द से जल्द हटा देने की मांग हम कर रहे है।
आगे कहते हुए उन्होंने कहा के मैंने पहले भी बीजेपी के सरकार में यह मांग रखी थी पर इसपर करवाई नही हुई और अभी भी मेरी यह मांग है के इस एसएमएस कंपनी को बंद किया जाए। उपरोक्त समय पर सह भिवंडी विधायक रईस शेख और विधायक अमीन पटेल मौजूद थे।


Comments