वित्त, एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने कोविड-19 से सम्बंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर ली जानकारी


कोरोना महोमारी सदी की सबसे बडी घटना - सुरेश खन्ना


बेहतर इलाज मुहैया कराकर महामारी से निपटना स्वास्थ्य विभाग का मुख्य उद्देश्य


30 अगस्त तक 300 एल-2 का बेड बढाने का निर्देश, एल-1 हुआ परिवर्तित को एल-2 


मीरजापुर, (उ0प्र0) : प्रदेश के वित्त, संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि कोरोना महामारी इस सदी की सबसे बडी घटना है, इस महामारी से निपटने के लिये विभाग का मुख्य उद्देश्य है कि इस महामारी से निपटने के लिये लोगों को बेहतर सुविधा मुहैया कराकर इस महामारी से बचाया जा सके। उसी उद्देश्य के दृष्टिगत जनपद मीरजापुर में कोविड-19 कोरोना के बचाव व रोकथाम के लिये किये जा रहे कार्यो की समीक्षा करने का मुख्य उद्देश्य है। भ्रमण के दौरान कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 के लिये की गयी तैयारियों के सम्बन्घ में बैठक कर जानकारी प्राप्त की। इस दौरान विधायक छानवे राहुल प्रकाश, विधायक मझंवा सुचिश्मिता मौर्य, आयुक्त विन्ध्याचल मण्डल प्रीति शुक्ला, जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल, पुलिस अधीक्षक डा0 धर्मवीर सिंह के अलावा अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।


बैठक में जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल के द्वारा जनपद में कोरोना महामारी से निपटने के लिये तैयारियों के द्वारा बारे मंत्री को विस्तृत रूप से बिन्दुवार जानकारी दी गयी। इस दौरान कहा कि कोरोना महामारी के बढते ग्राफ को देखते हुये आगामी 30 अगस्त तक कम से कम 300 वेड एल-2 अस्पताल बनाकर सुनिश्चित किया जाए, इसके अलावा अगले माह के अन्त तक 500 वेड की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि जो भी मरीज यहाॅं पर मिले उसे समय रहते अस्पताल में पहुॅचाकर तत्काल इलाज प्रारम्भ कर दिया जाए ताकि जल्दी से जल्दी वह मरीज स्वस्थ होकर अपने घर को जाए। मंत्री ने कहा कि एम्बुलेन्स की पर्याप्त व्यवस्था की जाए ताकि कहीं से भी किसी के द्वारा फोन के द्वारा व किसी अन्य माध्यम से सूचना प्राप्त होने पर तत्काल एम्बूलेन्स पहुॅचे और कम से कम समय में अस्पताल पहुॅचाया जाए। उन्होंने कहा कि छोटे-छोटे राज्यों में केश बढे परन्तु उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा काफी कंट्रोल किया गया है, उसी का नतीजा है कि आज उत्तर प्रदेश में 80579 जनपद में 7000 लोग स्वस्थ्य होकर अपने घरों को गये है तथा आज तक 654 केश एक्टिव हैं। उन्होंने कहा कि यह कोशिश की जाए कि मरीज जल्दी से जल्दी ठीक होकर घर को जाए इसके लिये पर्याप्त इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।



उन्होंने कहा कि मरीज को अस्पताल पहुॅचाने का जिम्मदारी कमाण्ड कंट्रोल रूम की है जैसे ही सूचना मिले तत्कल एम्बुलेन्स की व्यवस्था करके जिस अस्पताल के लायक वह मरीज है तत्कल मुख्य चिकित्साधिकारी वहां पहुॅचाने की व्यवस्था करें। इलाज के लिये जिस प्रकार की आवश्यकता है उसी प्रकार की इलाज दिया जाए। सर्विलांस टीम को सक्रिय करने निर्देश दिया। उन्होंने जिलाधिकारी से कहा कि सम्भव हो तो एल-1 को एल-2 में परिवर्तित किया जाए। उन्होंने मीरजापुर कमिश्नरी मुख्यालय है इसलिये कोशिश की जाए कि यदि मरीज बढते हैं तो उसे मीरजापुर में ही भर्ती कर इलाज की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि डाक्टरों की भ्रमण अस्पतालों में समय से किया जाए। कहा कि मरीजों को देय सुविधायें भी समय से गुणवत्तापूर्ण दी जाए। होम आइसुलेशन में उसी व्यक्ति को रखा जाए जिसे बीमारी लक्षण कम हो और उसके पास अलग से वाथरूम व कमरा उपलब्ध हो कहा कि उसकी निगरानी सम्बंधित चिकित्सक व सर्विलांस टीम के द्वारा प्रतिदिन फोनकर जानकारी की जाए उन्होंने होम इाइसोलेशन वालोें के लिये दिये गये दिशा निर्देशों का पूर्णतया पालन किया जाए।


जिलाधिकारी ने बताया कि वर्तमान में जनपद में 480 वेड की व्यवस्था की गयी है तथा जनपद में 65 एम्बुलेन्स है जिनमें से 16 को कोविड-19 के लिये लगाया गया है कंट्र्रोल रूम में फोन आते ही एम्बुलेन्स भेजने की व्यवस्व्था की जाती है, कोविड अस्पतालों में डाक्टरों के द्वारा समय से भ्रमण किया जा रहा है तथा कर्मचारियों के द्वारा साफ-सफाई की पर्याप्त ध्यान दिया जा रहा है।


कोविड-19 कंट्रोल रूम का भी निरीक्षण किया गया इस दौरान उपस्थित डाक्टरों व प्रभारी अधिकारी से कंट्रोल रूम के गतिविधियों के बारे में जानकारी प्रापत की गयी। उन्होंने कहा कि कोशिश यह की जाए कि कोरोना महामारी से कोई भी व्यक्ति मरने न पाये। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ओ0पी0 तिवारी ने भर्ती किये गये मरीजोें के बारे में विस्तृत जानकारी दी। मा0 मंत्री जी के द्वारा इसके बाद मण्डलीय अस्पताल के ट्र्रामा सेन्टर में बनाये गये एल-2 अस्पताल का भी निरीक्षण किया गया तथा ट्रामा सेन्टर के सामने नवनिर्मित अस्पताल में वेड बढाकर कोविड अस्पताल बनाने का निर्देश दिया। तत्पश्चात विन्ध्याचल जाकर माॅं विन्ध्यवासिनी देवी का दर्शन-पूजन भी किया गया। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी यू0पी0 सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक संजय, नगर मजिस्ट्रेट जगदम्बा सिंह, सी0ओ0 संजय कुमार व सुधीर कुमार के अलावा अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।


Comments