स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में औरंगाबाद मनपा का देश में 26वां स्थान


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


औरंगाबाद : केन्द्र सरकार के स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 के अंतर्गत देश में 4242 शहरों का सर्वे किया गया. सर्वे में 10 लाख जनसंख्या के ऊपर के शहरों में औरंगाबाद मनपा ने देश में 26वां स्थान पाया. गुरुवार देर शाम स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 का परिणाम घोषित किया गया. स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के लिए शहर के 11 लाख 75 हजार 116 जनसंख्या में  से 25 हजार 705 सकारात्मक प्रतिसाद दिया. जिसके चलते औरंगाबाद मनपा को ओडीएफ प्लस प्लस का प्रमाण प्राप्त हुआ. यह सर्वे जनवरी माह के अंत में हुआ था. इस सर्वे में केन्द्रीय दल ने शहर की कुल सफाई, कचरा प्रक्रिया, सार्वजनिक शौचालय  आदि की जांच की थी. गत वर्ष 10 लाख जनसंख्या वाले 47 शहरों में औरंगाबाद मनपा ने 46वां स्थान पाया था. इस साल यह स्थान 26 पर पहुंचा. साथ ही राष्ट्रीय स्तर के पिछले वर्ष मिले 220वें स्थान से वह 88 वां स्थान पर पहुंचा. स्वच्छ सर्वे 4 मुद्दों पर किया गया था. इसके लिए 6 हजार मार्क का मानांकन रखा गया था. इसमें औरंगाबाद मनपा को एक सर्विस लेवल प्रोगाम के लिए 645 अंक, सर्टिफिकेशन ओडीएफ तथा स्टार रेटिंग में ओडीएफ प्लस प्लस  और 500 अंक, प्रत्यक्ष रुप से  दौरा 1465 अंक, शहर के नागरिकों के प्रतिसाद पर 1 हजार 118 अंक ऐसे मिलाकर 3279 अंक मनपा को प्राप्त हुए है. इसमें नारेगांव के पुराने कचरे पर  प्रक्रिया और निर्माण साहित्य की प्रक्रिया इन 2 मुददों के चलते मनपा को स्टार रेटिंग नहीं मिली. इस साल हर्सूल का कचरा प्रकल्प और कांचनवाडी के बायो गैस प्रकल्प पूरा कर 2021 के स्वच्छ सर्वे में औरंगाबाद मनपा अधिक से अधिक अंक हासिल कर देश के पहले 10 शहरों में स्थान  पाएगा. यह विश्वास मनपा कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय ने जताया. गौरलतलब है कि राष्ट्रीय स्तर पर सन 2017 में औरंगाबाद  मनपा ने 299, 2018 में 128, 2019 में 220 तथा चालू वर्ष में 88वां स्थान पाया. शहर वासियों के प्रयासों से औरंगाबाद का रैंक बढऩे की प्रतिक्रिया मनपा कमिश्नर पांडेय ने दी.


Comments