स्लम के रहवासिय सड़क, शौचालय, पेयजल, बिजली, स्वछता जैसी मूलभूत सुविधा से वंचित : कांग्रेस पार्टी स्लम सेल तालुका अध्यक्ष वसंत कुंभार


मुंबई : मनपा एम पूर्व अंतर्गत आने वाले 15 वार्डो में स्लम के रहवासियो को मूलभूत सुविधाओं से वंचित होने का मामला ईशान्य मुंबई स्लम सेल के तालुका अध्यक्ष ने उठाया है। पिछले 35 वर्षों से स्लम के रहवासिय शुद्ध पेय जल, स्वछता जैसी नागरिक सुविधाओं को स्लम के नागरिकों को क्यों नहीं उपलब्ध करवा पाया है मनपा प्रशासन और राज्य सरकार। ईशान्य मुंबई स्लम सेल के तालुका अध्यक्ष वसंत कुंभार ने अपने राजनीतिक जीवन के सफर स्लम सेल के नागरिकों के बीच सामजसेवी के तौर पर साझा किया। पेश है " मुंबई अमरदीप " के पत्रकार यशपाल शर्मा से एक मुलाकात…


" मुंबई अमरदीप " - स्लम सेल के नागरिकों की जन समस्याएं क्या है ?


वसंत कुंभार - मुख्यरूप से अगर देखा जाये पिछले 35 वर्षों से गोवंडी की जनता स्लम की सड़क, शौचालय, पेयजल, बिजली, स्वछता जैसी मूलभूत नागरिक सुविधाओं का आभाव है।


" मुंबई अमरदीप " - आखिर क्या वजह है, गोवंडी की जनता स्लम की नागरिक सुविधाओं से वंचित है ?


वसंत कुंभार - ईशान्य मुंबई कांग्रेस पार्टी के स्लम सेल के तालुका अध्क्षय के तौर पर अभी तक अपने किस प्रकार का सहयोग किया है। लगभग 35 वर्षो से में सक्रिय राजनीतिक सामजसेवा से जुड़ा हुआ हूँ। नागरिको की समय समय पर पेय जल समस्या, सड़क, शौचालय के लिये संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ लगकर काम करवाकर लिया हूँ।


मैंने अभी पवई से आई मानखुर्द मंडाला के लिये मेंन 18 इंच पाइप लाइन बिछाने में आ रही अड़चनों को मुंबई महापालिका जल विभाग के इंजीनियरों के साथ मीटिंग करके रास्ते मे आ रही परेशानी दूर करवाई, तब कहीं जाकर पाइप लाइन बिछ पाई। इतना ही नहीं नागरिको की कबरिस्तान की समस्या को लेकर समय समय पर मोर्चा, आंदोलन का भी नेतृत्व करते चले आ रहे है।


" मुंबई अमरदीप " - आप के हिसाब से स्लम झोपड़पट्टियों के राहीवासियो के साथ नागरिक सुविधा उपलब्ध करवाने में क्यों सौतेला व्यवहार कर रही है।


वसंत कुंभार - राज्य सरकार को स्लम के रहवासिय के साथ बगैर कोई भेद भाव के नागरिक सुविधाओं में कोई कटौती किये बिना उपलब्ध करवाना चाहिये। क्योंकि आखिर वो भी इंसान है कोई जानवर नहीं, जो गंदगी, कचरे में नालियों से डूबे हुए पानी के पाइप से पेय जल पीते है। प्रदूषण से ग्रस्त एसएमएस कंपनी के जहरीले धुएं और देवनार डंपिंग ग्राउंड के बीच चक्की के दो पाटों में पीसकर जनता अपनी जान संक्रमित व जानलेवा बीमारियों से ग्रस्त होकर कम उम्र में मौत के मुहँ में जान गावं रही है। क्षेत्र में वयोवृद्ध लोगो के लिये जिस वार्ड में गार्डन की व्यवस्था नहीं हो मनपा प्रशासन, राज्य का पर्यवरण मंत्रालय सहित राज्य सरकार एम- पूर्व  के 16 लाख नागरिकों के स्वस्थ को लेकर लापरवाही करनी की बजाये गंभीरता से सुविधा उपलब्ध करवाये।


" मुंबई अमरदीप " - आप स्लम सेल झोपट्टियो में कौन सा बड़ा बदलाव देखना चाहते है ।


वसंत कुंभार - मैं स्लम के नागरिकों के लिये म्हाडा की बजाये एसआरए प्रोजेक्ट लागू करे सरकार, ताकि झोपट्टियो में रहने वाले गरीब नागरिको को नरकीय जीवन से मुक्ति मिल सके, शुद्ध खुली हवा गार्डन में सांस ले सके, शुद्ध पेय जल, सड़क, शौचालय की सुविधा उपलब्ध हो सके।


Comments
Popular posts
सीएम उद्धव ठाकरे ने पूरे राज्य के लोगो को अगले 8 दिन सतर्क रहने को कहा है--वरना लॉक डाउन लगाने के संकेत भी दे दिए है
Image
आपसी विवाद में युवक घायल, मामला रफा-दफा करने मे जुटी थी पुलिस
Image
दादरा और नगर हवेली से लोकसभा सदस्य मोहन डेलकर मुंबई के एक होटल में पाए गए मृत, गुजराती में लिखा सुसाइड नोट बरामद
Image
बाल विकास विभाग की कारगर योजनाओं से ही कुपोषण से मिला मुक्ति, 2668 केन्द्रों पर पौष्टिक आहार के लिए बच्चों, महिलाओं व किशोरियों में आ रही जागरूकता
Image
महाराष्ट्र से कर्नाटक आने वालों को बिना कोरोना रिपोर्ट देखे एंट्री की गई बन्द !
Image