संकटकाल में भी ठेकेदारों द्वारा लापरवाही और लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


पिंपरी : कोरोना के संकटकाल में भी ठेकेदारों द्वारा लापरवाही और लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। पिंपरी चिंचवड शहर के चिंचवड़ मोहननगर में स्थित ईएसआईसी हॉस्पिटल में घटिया दर्जे के भोजन की आपूर्ति की शिकायत मिली है। इसे गंभीरता से लेते हुए पिंपरी चिंचवड़ मनपा प्रशासन ने इस हॉस्पिटल में भोजन की आपूर्ति करनेवाले ठेकेदार का ठेका रद्द कर उसके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई के आदेश दिए हैं। सामाजिक कार्यकर्ता एवं भूतपूर्व नगरसेवक मारुति भापकर ने इस मामले को उजागर किया। कुछ दिन पहले मोहननगर के ईएसआईसी हॉस्पिटल में कोरोना मरीजों के खाने में इल्लियां मिली थी। जब एक मरीज इस बारे में एक वीडियो शेअर किया तो हडकंप मच गया। सामाजिक कार्यकर्ता मारुति भापकर हॉस्पिटल पहुंचे। देखने पर भोजन की थाली में इल्लियां मिलने की बात की पुष्टि हुई। अन्य मरीजों ने भी ठेकेदार द्वारा घटिया किस्म का भोजन देने की शिकायत की। इसके अलावा सब्जी, दाल में बदबू आने जैसी तमाम शिकायतें मिली। भापकर ने मनपा आयुक्त श्रावण हर्डीकर को एक पत्र लिखकर मांग की थी कि कोरोना मरीजों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड करने वाले ठेकेदार का ठेका रद्द कर उसके खिलाफ कार्रवाई की माँग की थी।


मनपा के भंडार विभाग के सहायक आयुक्त मंगेश चितले ने भापकर के पत्र का जवाब देते हुए 8 अगस्त को मे.बिग ट्री रेस्टारंट एंड बार नामक ठेकेदार का ठेका रद्द करने और उसके दंडात्मक कार्रवाई करने के आदेश दिए जाने की जानकारी दी। इस कार्रवाई से पहले ठेकेदार को नोटिस भेजी गई थी जिसमें उससे जवाब मांगा गया था। गौरतलब हो कि मोहननगर ईएसआईसी हॉस्पिटल को कोविड केयर सेंटर बनाया गया है। इसमें करीबन 100 बेड की सुविधा उपलब्ध है। कोरोना महामारी में बडी संख्या में मरीज भर्ती होकर इलाज करा रहे है। मरीजों का नाश्ता और दो वक्त के भोजन की आपूर्ति करने का मनपा ने उक्त ठेकेदार को ठेका दिया है।


Comments