सड़कों में पड़े गड्ढे हुए जानलेवा, हिचकोले खा रहे है वाहन चालक


मुंबई : मनपा एम-पूर्व अंतर्गत आने वाले शिवाजीनगर- मानखुर्द विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न राहीवासिय इलाकों की सड़कों पर गड्ढे पड़ चुके है। राज्य सरकार के पीडब्लूडी विभाग के अधिकारियों समेत मनपा की मुंबई में पड़े बड़े-बड़े गड्ढों को भरने की झूठे दावों की पोल पूरी तरह से खुल चुकी है। एम पूर्व के मनपा पर्यवेक्षण विभाग ने पूरी तरीके से आंखे कान बंद कर लिया है। एम-पूर्व अंतर्गत आने वाले 15 वार्डो के रहीवासिय क्षेत्र के जर्जर खस्ता हाल हालात के कारण पड़े बड़े-बड़े गड्ढे बाइक सवारों समेत बड़ी गाड़ियों के चालको के लिये खतरनाक साबित हो रहे है। कुछ ऐसा ही हाल छेड़ा नगर से शुरू मानखुर्द-टी सिग्नल पर खत्म होने वाले 7 किलोमीटर लंबे घाटकोपर-मानखुर्द लिंक रोड में रात-दिन चलने वाले एक्सप्रेस हाई-वे पर आये दिन सड़क दुर्घटनाएं आम बात हो चली है।


उल्लेखनीय तौर पर वाहन चालकों की लगातार सड़को के गड्ढों को लेकर आ रही। कोरोना लॉक डाउन में बढ़ती शिकायतों के कारण ने राज्य सरकार के पीडब्ल्यूडी विभाग समेत मनपा के पर्यवेक्षण विभाग के अधिकारियों क्या। इसके साथ ही राज्य शासन को आड़े हाथों से लेते हुए कहा कि सरकारी अधिकारी क्या बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं का ? कहा जाता है कि कोरोना लॉक डाउन काल के दौरान गहरी नींद में सोया हुआ प्रशासन आखिर कब भरेगा मुंबई के सड़कों के गड्ढे। गौरतलब हो कि विधानसभा क्षेत्र के भीतरी भागों में पहले से ही मौजूद सड़को पर पड़े गड्ढो से नागरिक जूझ रहे थे। वर्तमान समय मे पनवेल से लेकर, मुंबई पुणे रोड एक्सप्रेस हाई वे सहित सायन पनवेल हाई-वे की तीनों जगहों से आने जाने वाली हजारों की संख्या में गाड़ियों का प्रमुख हब बन चुका है घाटकोपर -मानखुर्द लिंक रोड। ईशान्य मुंबई के गोवंडी राहीवासिय इलाकों की सड़कों की हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी राज्य सरकार के पीडब्ल्यूडी समेत मनपा के संबंधित विभाग की कार्यशैली की पोल खोलकर रख दिया है। मनपा के मुंबई की सड़कों में पड़े बड़े/बड़े दावे पूरी तरह से झूठे साबित हों चुके है। वसंत कुंभार ने कहा कि वाहन चालकों की जान बचाने के लिये ।अगर समय रहते प्रशासन गड्ढे नहीं भरेगा तो आंदोलन करने से भी नही पीछे हटेंगें।


 


Comments