राकां नेता का भाई पहुँचा जेल, लाखों की ठगी करने का है आरोप


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


कल्याण : टिटवाला पुलिस स्टेशन के अंतर्गत एक बिल्डर द्वारा 2 फ्लैट की विक्री कर बुकिंग के पैसे और ग्राहक के नाम पर बैंक लोन के लाखों रुपए लेकर भी फ्लैट नहीं देकर लाखों की ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है. पीड़ित व्यक्ति की शिकायत पर कल्याण तालुका टिटवाला पुलिस ने आरोपी बिल्डर विमलेश रामसकल तिवारी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल पहुंचा दिया है.


मिली जानकारी के अनुसार आरोपी विमलेश उर्फ विमल तिवारी ने टिटवाला के पास गुरवली में 8 बिल्डिंग बनाने का काम शुरु किया. जिसमें फरियादी संतोष सिंह परिहार ने कमलेश तिवारी को 1 लाख 20 हजार रुपये बुकिंग के लिए दिए और बिल्डिंग नंबर 4 में 2 फ्लैट बुक किया था । संतोष सिंह का आरोप है कि फ्लैट पर लोन दिलाने की बात कहकर बिल्डर विमेलश तिवारी ने उससे सभी जरूरी कागजात लिए और आँस्पायर होम फायनान्स कंपनी से 13 लाख का कर्ज निकाल लिया. उसके बाद आधार हाऊसिंग फायनान्स से भी 14 लाख 50 हजार रुपए का कर्ज निकाल लिया और उक्त पूरी रकम अपने पास रख ली. उसके बाद भी एक भी फ्लैट नहीं दिया और फ्लैट देने में आनाकानी (टालमटोल) करने लगा.खुद के साथ धोखाधड़ी होने एवं लाखों रुपए ठगे जाने के बाद संतोषसिंह परिहार ने टिटवाला पुलिस में शिकायत दर्ज कराई । शिकायत को गंभीरता लेते हुए वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक बालाजी पांडे ने आरोपी विमलेश उर्फ विमल तिवारी को गिरफ्तार कर आधारवड़ी जेल भेज दिया है। आप को बतादे राकां नेता पारसनाथ तिवारी का छोटा भाई है , विमलेश तिवारी जिसकी वजह से कल्याण डोम्बिवली क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है ।


Comments