प्रसिद्ध मोज़ेक कलाकार चेतन राऊत ने 2 लाख दीयों से बनाया दुनिया का सबसे बड़ा "राम दरबार"


राम भूमी पूजन के विशेष, १० वा विश्व विक्रम


चित्र में भगवान राम, देवी सीता, भगवान लक्ष्मण और भगवान हनुमान को दर्शाते हुए रामदरबार दिखाया गया है


रिपोर्ट : रितेश वाघेला


मुम्बई :  प्रसिद्ध मोज़ेक कलाकार चेतन राऊत ने 2 लाख दीयों से बनाया दुनिया का सबसे बड़ा "राम दरबार"। चित्र में भगवान राम, देवी सीता, भगवान लक्ष्मण और भगवान हनुमान को दर्शाते हुए रामदरबार दिखाया गया है। उन्होंने अपनी टीम के साथ मुंबई के पवई, कनाकिया फ्यूचर सिटी में यह विश्व विक्रम हासिल की। राम दरबार की  मोजेक चित्र ६० फुट x ९० फीट के क्षेत्र १६४५.९३ sq  ft  में लगभग २,००,००० रंगीन मिट्टी के बने दीयों से बना है। इसमें ६ रंगो के दिये का उपयोग किया है।  चित्र को केवल तीन दिनों में पूरा करने के लिए ३० लोगों ने दिन-रात काम किया था।


यह रचना चेतन का कुल १० वां विश्व रिकॉर्ड है। उन्होंने इससे पहले भारत की ई-कचरे की समस्या पर कलाकृती बनाई है। कचरे का उपयोग करके विश्व की पोर्ट्रेट बनाए हैं ... सीडी, कीबोर्ड की, कैसेट, प्लास्टिक की गेंदें, रुद्राक्ष, पेपर हवाई जहाज, मिट्टी के दीये आदि।


संकल्पना - भारत में शुभ कार्य की शुरुआत दिया जलाकर की जाती है। भारत के त्योहारों में  चीन से बने दियों  का ज्यादातर उपयोग किया जाता है। हमे अपने देश के बने मिट्टी के  दियो का उपयोग करना चाहिए। भारत में कुटुंब संस्कृति ज्यादा तर दिखाई देती है। इसका सुंदर उदाहरण राम दरबार है।


भगवान श्री राम आदर्श राजा हैं - आज भी, कई भारतीयों का मत है कि राम राजा और राम राज्य होना चाहिए। श्री राम की पत्नी सीता उनके बलिदान ने उन्हें पतिव्रत में स्थान दिलाया। लक्ष्मण राम के छोटे भाई, उनकी परछाई की तरह .. राम की साथ को कभी नहीं छोड़ा।


हनुमान की रग रग में राम हैं - निष्ठा प्रेम का एक सुंदर प्रतीक है, तेज का अर्थ है राम, सीता का अर्थ है पृथ्वी, लक्ष्मण जो तेज में पूरी तरह मिश्रित होकर जललक्षणी और मारुति वास्तव में वायु है।


इन चार सिद्धांतों ने मिलकर भारतीय संस्कृति का स्थान बनाया है ... इन चार तत्वों के बिना, आकाश के पांचवें तत्व का कोई आकार नहीं है।


 


Comments