पूरे प्रदेश में जेईई-एनईईटी परीक्षाओं को लेकर कांग्रेस का ज़ोरदार प्रदर्शन


लखनऊ : उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी केंद्र सरकार द्वारा महामारी काल में जेईई-एनईईटी परीक्षा कराये जाने, छात्रो सहित उनके अभिभावकों को संक्रमण में झोंकने के फैंसले के खिलाफ आज प्रदेश के मुख्यालयों पर ज़ोरदार तरीके से धरना प्रदर्शन कर आज छात्रो और उनके अभिभावकों की आवाज़ को पुरजोर तरीके से उठाया। प्रदेशव्यापी धरना-प्रदर्शन लखनऊ, कानपुर, इलाहाबाद, झाँसी, गोरखपुर, फैजाबाद, वाराणसी, मेरठ, गाज़ियाबाद, बरेली, मुरादाबाद सहित प्रदेश  हर जिला मुख्यालय/केंद्रीय कार्यालयों पर किया गया।


उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने जारी एक बयान में कहा कि कोरोना महामारी के बीच जेईई-एनईईटी परीक्षा आयोजित करने के केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ आज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राज्य भर में ज़ोरदार तरीके से विरोध प्रदर्शन कर छात्रों और अभिभावकों की आवाज़ को बुलंद किया । केंद्र सरकार सहित राज्य सरकार के प्रतिष्ठानों और जिला प्रशासन मुख्यालय के सामने कांग्रेसी कार्यकर्त्ताओं ने  जोरदार तरीके विरोध प्रदर्शन कर केंद्र के अविवेकपूर्ण और हठवादी फैंसले के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया।


प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश की योगी सरकार कोरोना वायरस महामारी के प्रसार को रोकने में नाकाम साबित हुयी है। प्रदेश के कई हिस्से बढ़ की चपेट में है, दूर दराज क्षेत्र से आने वाले छात्रो का आवागमन भी सुगम नहीं नहीं ऐसे में छात्रो का परीक्षा दे पाना बहुत ही मुश्किल होगा। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना जैसे घातक संक्रमण के दौर में लाखो छात्रो की परीक्षा आयोजित कराना कहीं से भी न्यायोचित कदम नहीं है ,जिससे अब तक 75,000 लोगो की मौत हो चुकी है ।


प्रदेश श्री अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू ने कहा कि हम मांग करते है कि  केंद्र को कोरोनो वायरस के देशव्यापी प्रसार के मद्देनजर जेईई-एनईईटी परीक्षाओं को स्थगित करना चाहिए। चूंकि प्रतियोगी छात्र किशोर हैं, इसलिए वे अपने माता-पिता के साथ परीक्षा केंद्रों पर जाते हैं। और उनके उम्रदराज माता-पिता इस वायरस की चपेट में आ सकते हैं, केंद्र सरकार की यह सलाह है कि कोविद 19 के मद्देनजर बुजुर्ग घर पर ही रहे, क्या केंद्र सरकार अपनी ही एडवाइजरी को ही भूल चुकी है ।


प्रदेश अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू ने आगे बताया कि मोदी सरकार की इस अविवेकपूर्ण और हठवादी फैंसले के खिलाफ सोशल मिडिया प्लेटफॉर्म पर ऑनलाइन अभियान #स्पीकअपफॉरस्टूडेंटसेफ्टी के जरिये भी विरोध प्रदर्शन हो रहा है, जिसमे लाखो की संख्या में छात्र-नौजवान इस मुहीम में शामिल हो रहे हैं।


प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि केंद्र की सरकार को छात्र-छात्राओं की चिंताओं को संवेदना से देखना होगा न कि हठ और राजनीतिक दृष्टि से। सरकार इस अविवेकपूर्ण फैंसले को रद्द करे, और संकट की इस घडी में राजनैतिक द्वेष-भावना से कोई निर्णय ना करें । पूरा देश जेईई-एनईईटी परीक्षाएं को लेकर एकमत है कि परीक्षाएं टाली जाए फिर भी भारत सरकार परीक्षा कराने के लिए अड़ी है, समझ नहीं आ रहा है फिर भी भारत सरकार परीक्षाएं कराना चाहती है या कोरोना को बढ़ाना चाहती है।


Comments