नौगांव उप स्वास्थ्य केंद्र की व्यवस्थाएं चल रही भगवान के भरोसे अस्पताल गेट पर खाली सैनिटाइजर मशीन


रिपोर्ट : निर्णय तिवारी


छतरपुर/नौगांव : वैश्विक कोरोना महामारी के चलते शासन द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी अधिकारियों को बार-बार सुझाव एवं निर्देश कि किसी भी सूरत में कोरोना जिले में बढ़ने ना पाए। इस कोरोना से आम लोगों के बचाव के लिए लगातार प्रशासन द्वारा लोगों को जागरूक किया जा रहा है। जिसके लिए मीटिंगओं का आयोजन किया जा रहा है तो कहीं गाड़ियों पर साउंड संचालित करके लोगों को जागरूक किया जाए। अस्पताल में बेहतर प्रबंधन को लेकर कलेक्टर द्वारा कई बार निर्देशित किया जा चुका है पर शायद यह सभी बातें सभागार या आयोजन तक ही सीमित दिखाई देती हैं, क्योंकि लॉकडाउन खुलने के बाद ना तो आम लोगों में कोरोना महामारी का कोई वैदिक दिख रहा है, लोग बगैर मास्क के ही आम लोगों से मिल रहे हैं। दुकानों पर खरीदारी कर रहे हैं एवं परिवहन होते दिखाई देते हैं। प्रशासन द्वारा सभी जगह एवं सभी लोगों को सैनिटाइजर के द्वारा सैनिटाइज करने के उपरांत ही घर में जाने एवं किसी से मिलने के लिए समझाएं। कई बार दी गई पर कहीं भी शासन का डर देखने को नहीं मिल रहा। ऐसा ही एक मामला नौगांव स्वास्थ्य केंद्र में देखने को मिला।


आपको जानकारी दे दें महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए अस्पताल में मुख्य गेट पर ही सैनिटाइजर मशीन को लगाया गया है, ताकि बाहर से आने वाले मरीज अपने हाथों को अच्छी तरह धोकर स्वास्थ में पहुंचे या अस्पताल से बाहर जाएं ताकि संक्रमण होने से बचा जा सके पर यहां इसके बिल्कुल विपरीत देखने को मिल रहा है। यहाँ बिना सैनिटाइजर के ही मरीज अंदर आ रहे और बाहर जा रहे और करवा रहे हैं अपना इलाज। नौगांव उप स्वास्थ्य केंद्र अब भगवान के भरोसे ही चल रहा है। बीएमओ साहब इतनी गहरी नींद में सोए हुए हैं कि उन्हें यह भी पता नहीं है कि अस्पताल की व्यवस्था कैसी है। अस्पताल में ना तो डाक्टर दिखाई दे रहे और ना ही वहां की व्यवस्थाएं। कुल मिलाकर नौगांव उप स्वास्थ्य केंद्र अब भगवान के भरोसे ही चल रहा है। जब अस्पताल के कुछ कर्मचारियों से पूछा गया कि मरीज बिना सैनिटाइजर के ही अंदर और बाहर प्रवेश कर रहे हैं, क्या कारण हैं। तब अस्पताल के कर्मचारियों ने बताया कि सैनिटाइजर तो सुबह ही खत्म हो गया था। लेकिन अभी 12 ही बजे हैं 1 घंटे के बाद सैनिटाइजर मशीन में डाल दिया जाएगा।


कर्मचारियों से पूछा गया कि सीएमओ साहब को इस बात की जानकारी नहीं है कि मशीन में सैनिटाइजर है या मशीन खाली पड़ी है। तब स्टाफ ने बताया कि बीएमओ साहब तो देखने नहीं आते हैं, आप ही उनके घर जाकर उनसे पूछ लीजिए कि साहब मशीन खाली है। सैनिटाइजर मशीन में कब भरा जाएगा, हम कुछ नहीं बताएंगे। यदि हम कुछ बताते हैं तो हमारे साहब हमें डांट लगाएंगे। इस तरह नौगांव उप स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों के साथ आंख मिचौली का खेल खेला जा रहा है और प्रशासन भी गहरी नींद में सोया हुआ है।


Comments