नाबालिक को भगाकर ले जाने व उसके साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपी की जमानत निरस्त


रिपोर्ट : निर्णय तिवारी


छतरपुर : नाबालिक को बहला फुसलाकर भगा ले जाकर व उसके संग दुष्कर्म करने वाले आरोपी रवि अहिरवार का जमानत आवेदन विशेष न्यायाधीश बरखा दिनकर की अदालत ने निरस्त करते हुए आरेापी को जेल भेज दिया।


जिला मीडिया सेल अभियोजन प्रभारी ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना दिनांक 08/11/2017 को फरियादी अपनी पत्नी एवं पुत्री के साथ अपनी ससुराल आया था, फरियादी अपनी पुत्री को ससुराल में छोड़कर शादी में चला गया, जब सुबह वापस आया तो उसकी सास ने बताया कि उसकी पुत्री रात में उसके पास में सोयी थी, जब सुबह देखा तो उसकी लड़की वहां पर नहीं थी, जब उसने एवं उसके ससुराल वालों ने सभी जगह लड़की की तलाश की तो वह नहीं मिली फरियादी की उक्त रिपोर्ट पर थाना भगवां में अपराध पंजीबद्ध किया गया। विवेचना दौरान थाना पुलिस ने पीडि़ता को खोजकर पूंछताछ की तो पीडि़ता ने बताया कि आरोपी उसे बहला फुसलाकर भगा ले गया और उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। आरोपी ने अपनी रिहाई हेतु न्यायालय में जमानत आवेदन प्रस्तुत किया।  शासन की ओर से विशेष लोक अभियोजक/एडीपीओ अजय मिश्रा ने जमानत का विरोध करते हुये कहा कि आरेापी ने गंभीर प्रकृति का अपराध किया है समाज में गलत संदेश जाएगा, आरोपी जैसी सोच रखने वाले लोगो का मनोबल बढ़ेगा साथ ही कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हिये आरोपी को जमानत का लाभ नहीं दिया जाए। तर्क सुनने के बाद विशेष न्यायाधीश श्रीमती बरखा दिनकर की अदालत ने आरोपी का जमानत आवेदन निरस्त कर जेल भेज दिया।


Comments