Mirzapur : पुलिस चौकी में वर्षों से अंगद की तरह पांव जमाए हुए हैं पुलिसकर्मी


मीरजापुर, (उ0प्र0) :  राजगढ़ क्षेत्र में पुलिस का इकबाल पुलिस के नुमाइंदे ही खत्म कर रहे हैं। मड़िहान थाना क्षेत्र के राजगढ़ पुलिस चौकी में कई पुलिसकर्मी ऐसे हैं जो बरसों से यहां अंगद की तरह पैर जमाए बैठे हैं। जिनके क्षेत्र के अपराधियों से भी प्रगाढ रिश्तों की संभावनाएं बढ़ गई है। अपराधियों के साथ ये पुलिसकर्मी अवैध धंधों में लिप्त हाेने का अंदेशा जताया जा सकता है और पुलिस की गुप्त सूचनाएं तक अपराधियों तक पहुंचा रहे हैं। जब तक पुलिस चौकी से इन अंगदों को नहीं उखाड़ा जाएगा तब तक पुलिस के विभीषण नहीं मर पाएंगे।


तबादला होता भी है तो फिर लौट आते हैं


इन पुलिसकर्मियों के पुलिस उच्चाधिकारी और नेताओं से अच्छे सम्बन्ध हैं। जिसके कारण उनका थाने से तबादला ही नहीं होता है। कोई नया अधिकारी आने पर इनका तबादला भी हो जाता है तो ये पुलिसकर्मी इधर-उधर से जुगाड़ बैठाकर फिर वहीं लौट आते हैं। जबकि शासन के नियमानुसार तीन साल से अधिक कोई पुलिसकर्मी एक जगह पर नहीं टिक सकता। पुलिस मुख्यालय के स्पष्ट आदेश हैं कि पुलिस कांस्टेबल व हैडकांस्टेबल एक थाने में तीन साल से ज्यादा पदस्थापित नहीं रह सकते, लेकिन हालात यह है कि मड़िहान थाना क्षेत्र के राजगढ़ पुलिस चौकी में शासन के नियम व पुलिस मुख्यालय के इन आदेशों की धज्जियां उड़ रही हैं। राजगढ़ पुलिस चौकी में कई पुलिसकर्मी ऐसे हैं जो एक ही  पुलिस चौकी में कई वर्षों से टिके हुए हैं। इसलिए कुछ अच्छे पुलिसकर्मी भी बदनाम हो रहे हैं।


 पुलिस चौकी में कई अच्छे, ईमानदार और पुलिस के समर्पित पुलिसकर्मी भी हैं। उनका अपराधियों में पूरा खौफ भी है। पुलिस के बड़े खुलासों में भी उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रहती है, लेकिन राजगढ़ पुलिस चौकी में अपराधियों से साजबाज होकर काम कर रहे पुलिसकर्मियों के कारण कुछ अच्छे पुलिसकर्मियों पर भी उंगली उठना शुरू हो जाती है। हालांकि पुलिस चौकियों मे लंबे समय से  पदस्थापित पुलिसकर्मियों का स्थानांतरण करने की प्रकिया चल रही है। जल्द ही सभी थानों व पुलिस चौकियों से ऐसे पुलिसकर्मियों को स्थानांतरित किया जाएगा।


Comments