मनपा की ओर से शहर के पथ विक्रेताओं का सर्वे करने का कार्य आगामी शुक्रवार तक चलेगा


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


औरंगाबाद : मनपा की ओर से शहर के पथ विक्रेताओं का सर्वे करने का निर्णय बीतों दिनों लिया गया था. उस पर सोमवार से अमलीजामा पहनाया जा रहा है. यह सर्वे कार्य आगामी शुक्रवार तक चलेगा. मनपा कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय ने पथ विक्रेता सर्वे के लिए प्रभाग निहाय दलों की नियुक्ति कर सनियंत्रण अधिकारी के रुप में वार्ड अधिकारियों पर जिम्मेदारी सौंपी है. यह जानकारी मनपा की विधि सलाहकार और पथ विक्रेता सर्वे  के लिए गठित की गई समिति की समन्वयक अपर्णा थेटे ने दी.


उन्होंने बताया कि पथविक्रेता कानून 2014 के अंतर्गत शहर के पथ विक्रेताओं का सरकार द्वारा लॉन्च किए गए मोबाइल एप द्वारा आधार बेस्ड ऑन लाइन सर्वेक्षण कर पंजीकरण करना और उसके दस्तावेज स्कैन कर एनयूएलएल विभाग को भेजे जाएंगे. इसके लिए प्रभाग निहाय दलों की स्थापना की गई है. 17 से 21 अगस्त के दौरान सुबह 8 से शाम 6 बजे तक हर वार्ड में जाकर पथ विक्रेताओं सर्वे होगा. साथ ही सभी नागरी मित्र दलों के प्रथम क्रमांक के कर्मचारियों को सर्वे के प्रतिदिन की  रिपोर्ट प्रभाग निहाय दिए हुए रिपोर्टिंग हेड को पेश करनी होगी. सनियंत्रण अधिकारियों ने उनके नाम के सामने दर्शाए हुए दल को वार्ड की सीमा दिखाने के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति करेंगे. सर्वे की प्रतिदिन की जानकारी अतिरिक्त आयुक्त रविन्द्र निकम को पेश करना बंधनकारक रहेगा. पथ विक्रेता सर्वे के लिए नियुक्त किए गए अधिकारी और कर्मचारी सर्वे के काम में शामिल न होने पर उन पर प्रशासकीय कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी गई.


शहर के पथविक्रेताओं को दीनदयाल अत्योंदय योजना राष्ट्रीय नागरी उपजिविका अभियान, मनपा के अंतर्गत पथ विक्रेताओं को सहाय इस घटक के अंतर्गत शहर के सभी स्थिर, फेरीवाले, अस्थाई पथ विक्रेताओं के लिए सरकार ने विकसित किए मोबाइल एप द्वारा पथ विक्रेताओं का सर्वे 17 से 21 अगस्त के दौरान किया जाएगा. इस सर्वे के लिए प्रधानमंत्री स्वनिधि, आत्मनिर्भर निधि योजना की 10 हजार रुपए की रकम बैंक द्वारा कर्ज के रुप में दिए जाने की  जानकारी दी जाएगी. यह सर्वे नि:शुल्क रहेगा. सभी पथ विक्रेताओं ने खुद के दस्तावेज और मोबाइल नंबर देना अनिवार्य रहेगा. साथ ही सभी पथ विक्रेताओं को प्रधानमंत्री स्वनिधि, आत्मनिर्भर निधि योजना का लाभ लेने के लिए सर्वे में अपना नाम पंजीकरण करना अनिवार्य किया गया है.


Comments