महिलाओं को सुरक्षा देने में पूरी तरह विफल है योगी सरकार : अजय कुमार लल्लू


लखनऊ : उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश में बढ़ती महिला हिंसा पर गहरी चिन्ता व्यक्त की है। लखीमपुर खीरी में आॅनलाइन फार्म भरने गयी छात्रा के साथ बलात्कार और जघन्य हत्या की घटना ने प्रदेश की योगी सरकार के रामराज्य की कलई खोल कर रख दी है। प्रदेश की नाबालिग बच्चियों के साथ हो रहे गैंगरेप, हत्या और महिलाओं के साथ हो रही दरिन्दगी के खिलाफ योगी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू ने कहा कि उ0प्र0 बलात्कारियों और अपराधियों का हब बन चुका है।


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि महिलाओं के साथ हो रहे रोजाना हिंसा, बलात्कार, गैंग रेप, हत्या, उत्पीड़न की घटनाएं साफ इशारा करती हैं कि प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं बची है और प्रदेश बलात्कारियेां का अड्डा बन चुका है।


उन्होने कहाकि महिलाओं के साथ हो रही जघन्य हिंसा के मामले योगी सरकार में टाॅप पर हैं। पिछले दिनों लखीमपुर में ही एक अबोध बच्ची के साथ दर्दनाक गैंगरेप और उसकी निर्मम हत्या हुई थी, जिसकी स्याही अभी सूख ही नहीं पायी थी कि लखीमपुर में फिर एक छात्रा के साथ हुए बलात्कार और हत्या की घटना ने प्रदेश को हिलाकर रख दिया है। पिछले दिनों आजमगढ़, गोरखपुर, सीतापुर और जालौन में हुई वीभत्स घटना में योगी सरकार ने पूरी तत्परता के साथ अपराधियों के साथ कार्यवाही नहीं की और उन घटनाओं से कोई सबक नहीं लिया जिसका दुष्परिणाम है कि लखीमपुर मंे एक छात्रा के साथ दर्दनाक हादसा हो गया। लगातार इस तरह की घटनाओं से यह साबित होता है कि महिलाओं को सुरक्षा देने में यह सरकार पूरी तरह विफल है।


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना महामारी की रोकथाम में पूरी तरह विफल साबित हो रही है। यही कारण है कि इस महामारी की भयावहता को देखते हुए मा0 उच्च न्यायालय को भी संज्ञान लेना पड़ा और प्रदेश के मुख्य सचिव को आड़े हाथों लेते हुए कोरोना के रोकथाम की कार्ययोजना तलब की है। 


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री येागी आदित्यनाथ को सलाह देते हुए कहा कि वह प्रदेश के कानून व्यवस्था की समीक्षा करें और महिलाओं की सुरक्षा से सम्बन्धित हर कदम को गंभीरता से उठायें ताकि बलात्कार का हब बन चुके उ0प्र0 में कानून का भय पैदा हो और ऐसी घटनाएं रूक सकेें।


अजय कुमार लल्लू ने कहा कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली योगी सरकार में महिलाएं और बच्चियां सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं। उन्होने कहा कि महिलाओं और बच्चियों को सुरक्षा देने में सरकार पूरी तरह विफल है। क्या तथाकथित ‘‘योगी माॅडल’’ की यही सच्चाई है?। मुख्यमंत्री मौन धारण किए हुए हैं। सरकार को जवाब देना होगा कि आखिर उ0प्र0 में बहन, बेटियां सुरक्षित क्यों नहीं हैं?।


Comments