महापालिका प्रशासन का उदासीन रवैया, सचिव नियुक्त करने को लेकर मनपा में किसी भी प्रकार की गतिविधि


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


पुणे : पुणे महापालिका के नगर सचिव सुनील पारखी जारी माह के अंत में सेवानिवृत्त हो रहे हैं. साथ ही अगले माह में उपनगर सचिव भी सेवानिवृत्त होंगे. उनकी जगह पर नया नगर सचिव नियुक्त करने को लेकर मनपा में किसी भी प्रकार की गतिविधि होती नजर नहीं आ रही है, जबकि यह पद काफी महत्वपूर्ण होता है.  विगत 6 माह पहले इसकी प्रक्रिया शुरू करना आवश्यक था, लेकिन इसमें महापालिका प्रशासन का उदासीन रवैया सामने आ रहा है. हाल ही में प्रशासन द्वारा राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है, लेकिन अभी तक सरकार की ओर से भी इस दिशा में कोई हलचल दिखाई नहीं दे रही है. कहा जा रहा है कि इस पर मनपा के अधिकारी को अवसर मिल सकता है.


ज्ञात हो कि महापालिका कामकाज में नगरसचिव का पद काफी महत्वपूर्ण होता है. देखा जाए तो मनपा कमिश्नर के बाद नगरसचिव पद का महत्त्व होता है. प्रशासन साथ ही महापौर समेत राजनैतिक लोगों में समन्वय करने का महत्वपूर्ण काम की जिम्मेदारी नगरसचिव पर होती है. महापालिका के आम सभा, स्थायी समिति के नियोजन से लेकर उसकी कार्यपत्रिका निकालना, सभा का आयोजन, इससे सम्बंधित चुनाव प्रक्रिया, विशेष विषय समितियों का आयोजन और उसके चुनाव की प्रक्रिया भी नगरसचिव को करनी पड़ती है. महापौर कार्यालय का सभी कामकाज भी नगरसचिव द्वारा किया जाता है. इस वजह से मनपा कामकाज में नगरसचिव की भूमिका महत्वपूर्ण मानी जाती है. ऐसा होने के बावजूद भी नए नगरसचिव प्रक्रिया में तेजी नहीं ला जा रही है. क्योंकि नगरसचिव पारखी अगस्त अंत में सेवानिवृत्त होंगे. उनकी जगह उप नगरसचिव राजेंद्र शेवाले ले सकते है, लेकिन शेवाले भी सितम्बर माह में सेवानिवृत्त होंगे. अतएव नगरसचिव नियुक्ति की प्रक्रिया पहले ही करना आवश्यक था. लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा है.


मनपा प्रशासन द्वारा नए नगरसचिव की नियुक्ति के लिए भर्ती प्रक्रिया के लिए कई शर्ते रखी गई है. इसमें 5 साल का अनुभव के साथ लॉ की डिग्री अनिवार्य की गई है. इसके अनुसार इसके लिए मनपा के अधिकारियो ने इच्छा दर्शायी तो इस पद के लिए पात्र हो सकते है. इसमें उपायुक्त विलास कानड़े, शिवाजी दौंडकर, रमेश शेलार, कामगार अधिकारी नितिन केंजले , संतोष पवार, इन लोगों का नाम सबसे आगे है, लेकिन नियुक्ति प्रक्रिया को अभी तक सरकार की मंजूरी नहीं मिल पाई है. सिर्फ मनपा द्वारा नगरविकास मंत्री को प्रस्ताव भेजा गया है. सरकार की मंजूरी के बाद पहले विज्ञापन देना होगा. उसके बाद साक्षात्कार लेकर नियुक्ति की जाएगी, लेकिन इसी प्रक्रिया में देरी हो रही है. 


वहीं अनिल मुले, उपायुक्त, सामान्य प्रशासन विभाग ने बताया कि नगरसचिव नियुक्ति प्रक्रिया को लेकर हमने राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजा. सरकार ने इसे अभी तक मंजूरी नहीं दी है. इसको लेकर हम फॉलो अप में है. सरकार ने हरी झंडी दिखाने के बाद तत्काल प्रक्रिया शुरू की जाएगी.


Comments