कृषि उत्पन्न बाजार समिति के सभापति का चुनाव 31 अगस्त को


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


नवी मुंबई : कृषि उत्पन्न बाजार समिति के सभापति का चुनाव 31 अगस्त को तय हुआ है. फरवरी में समिति के संचालकों का चुनाव हुआ था, जिसमें राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने अपना दबदबा कायम रखा. कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के चलते सभापति का चुनाव फिलहाल टाल दिया गया था, जिसे 31 अगस्त को कराने की तैयारी है. गौरतलब है कि उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के वर्चस्व वाली नवी मुंबई एपीएमसी में अगला सभापति उन्हीं का चहेता ही बन सकेगा. इस चुनाव की जिम्मेदारी राकां नेता शशिकांत शिंदे को सौंपी गयी है.  बता दें कि बीते फरवरी ने भाजपा के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बने एपीएमसी चुनाव में अंततः राष्ट्रवादी कांग्रेस महाविकास आघाड़ी का ही पैनल विजयी हुआ था. 6  राजस्व एवं 4 व्यापारी संघों के संचालक पद के लिए हुए चुनाव में कुल 18 में से 16 सीटों पर महाआघाड़ी के संचालक जीते जबकि 2 निर्दलीय चुने गए. जाहिर है बहुमत के कारण सभापति राष्ट्रवादी का ही चुना जाएगा. यहां कामगार प्रतिनिधि के तौर पर शशिकांत शिंदे एवं फल मार्केट से संजय पानसरे निर्विरोध चुने गए हैं.


एपीएमसी के सभापति पद की होड़ में पुणे मंडल के बालासाहब सोलस्कर सबसे आगे हैं. पहले भी वे बाजार समिति के सभापति रह चुके हैं. हालांकि नागपुर के संचालक भी इस दौड़ में शामिल हैं. कुल 3 सदस्य एपीएमसी समिति के चेयरमैन समिति के लिए प्रयासरत हैं. शिवसेना, शेकाप और राष्ट्रवादी कांग्रेस के साथ होने से महाविकास आघाड़ी का सभापति चुना जाना तय माना जा रहा है.


Comments