" कोरोनकाल में मास्क का महत्व "


✍️  गोपाल कृष्ण पटेल


कोरोना संक्रमण से राहत की सांस, मास्क ही दे सकता है। मास्क हमें तो सुरक्षित रखता ही है, दूसरों को भी बचाता है। घर से बाहर निकलते समय और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर मास्क का प्रयोग बहुत जरूरी हो जाता है। मास्क संक्रमण के खतरे को कम कर देता है। कहा जाता है कि, अगर 80 फीसद आबादी मास्क पहने तो कोरोना संक्रमण की श्रृंखला को आसानी से खत्म किया जा सकता है।


लॉकडाउन के बाद लोग धीरे-धीरे अपने काम के लिए पूरी सावधानियों को ध्यान में रखते हुए बाहर निकल रहे हैं। लेकिन अब चीजें पहले जैसी नहीं रहीं, खासकर आने वाले कुछ महीनों में अतिरिक्त सावधानी बरतने की आवश्यकता है। कोरोनावायरस से बचने के लिए सामाजिक दूरी और व्यक्तिगत स्वच्छता पर जोर देना जरूरी है। यह मान लीजिए कि हम कोरोना काल में खुद को एक नई दुनिया में रहने के लिए तैयार कर रहे हैं।


इसी के साथ ही हमें अपने बच्चों को भी नई सीख देने की आवश्यकता है। पहले और आज में फर्क को समझाने की जरूरत है। सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क व हाथ धोने का क्या महत्व है, यह हमें बच्चों को भी समझाना जरूरी है। संक्रमण से दूर रहने के लिए किन-किन बातों का ध्यान रखें, इसे बच्चों को बताना पैरेंट्स की जिम्मेदारी है। बच्चे इन्हें अपनाने से इंकार भी कर सकते हैं, तो ऐसे में आपको इन बातों को ध्यान में रखना चाहिए?लंबे समय तक फेस मास्क का इस्तेमाल करना बच्चों के लिए कठिन हो सकता है। अगर आप यह सोच रहे हैं कि इसके लिए बच्चों को कैसे समझाएं तो यहां कुछ खास टिप्स की मदद से आप अपनी इस मुश्किल समस्या से निजात पा सकते हैं।बच्चों को सच्चाई से अवगत कराने में कोई बुराई नहीं है। नहीं, हम यह नहीं कह रहे कि आप उनको पूरी जानकारी दें जिससे कि बच्चों में डर पैदा हो। बल्कि आप उन्हें यह बता सकते हैं कि इस वक्त चेहरे को कवर करके रखना और हाथ धोना आपको कीटाणुओं से बचाएगा और इससे आप सुरक्षित रहेंगे। अपनी बात को सरल और सही तरीके से समझाएं।


कोविड-19 वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के संपर्क में आने से आसानी से फैलता है। मास्क पहनने से किसी संक्रमित व्यक्ति की थूक की बूंदों से हवा में मौजूद वायरस के श्वसन तंत्र में प्रवेश करने की संभावना कम हो जाती है। मास्क के महत्व और अनिवार्यता को लेकर शासन व प्रशासन आए दिन दिशा-निर्देश जारी करता है।कोरोना से बचाव में मास्क की भी बहुत अहमियत है लेकिन मास्क कैसे इस्तेमाल किया जाए ,इसकी पूरी जानकारी सबके पास नहीं है। चलिए हम आज आपको बताते हैं कि मास्क कब और कैसे पहनना चाहिए। अगर आपको खांसी और जुकाम है तो मास्क अवश्य पहनें। भीड़-भाड़ वाली जगहों पर मास्क अवश्य पहनें।कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज की देखभाल कर रहे हैं तो मास्क लगाएं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, मास्क का प्रयोग तभी प्रभावी होता है। जब मास्क के साथ-साथ हाथों को भी साबुन या सैनिटाइजर से धुलता रहा जाए। मास्क के प्रयोग के साथ इसका सुरक्षित निस्तारण भी किया जाए।


Comments
Popular posts
‘श्रीयम न्यूज नेटवर्क’ की प्रतियोगिता ‘मां की ममता’ का परिणाम घोषित, आलेख वर्ग में रीता सिंह तो काव्य वर्ग में अंजू जांगिड़ ने मारी बाजी
Image
रिपब्लिकन पार्टी के कार्यकर्ताओं को दुध एल्गर आंदोलन में शामिल होना चाहिए - केंद्रीय राज्य मंत्री रामदास आठवले
Image
बाल विकास विभाग की कारगर योजनाओं से ही कुपोषण से मिला मुक्ति, 2668 केन्द्रों पर पौष्टिक आहार के लिए बच्चों, महिलाओं व किशोरियों में आ रही जागरूकता
Image
एण्डटीवी के ‘येशु’ में कौन होगा शैतान का अगला शिकार?
Image
विश्व पीसीओएस जागरूकता माह : जरूरी है जागरूकता, बचाव एवं समय पर उपचार
Image