कोरोना अस्पतालों द्वारा मरीजों से अधिक बिल वसूली के मामले में सख्ती, 15 अस्पतालों को भेजा नोटिस


ठाणे : ठाणे महानगर पालिका द्वारा घोषित कोरोना अस्पतालों द्वारा मरीजों से अधिक बिल वसूली के मामले में सख्ती बरतना शुरू कर दिया है और शहर के 15 अस्पतालों को नोटिस भेजा है। जिससे इन निजी अस्पतालों में खलबली मच गई है। मिली जानकारी के अनुसार मनपा द्वारा भेजे गए 15 अस्पतालों द्वारा 10 जुलाई से 21 अगस्त के बीच अधिक की गई. वसूली की रकम में से सिर्फ 26 लाख 68 हजार रूपए की रकम ही वापस किया गया है. जबकि अतिरिक्त बिल का कुल आकंड़ा एक करोड़ 82 लाख के करीब है। हलांकि मनपा आयुक्त डॉ. विपिन शर्मा ने भेजे गए नोटिस में स्पष्ट तौर पर उल्लेख किया है कि अधिक वसूल की गई रकम को जल्द ही मरीजों को वापस किया जाए नहीं तो अस्पताल प्रशासन को दंडात्मक कार्रवाई का भी सामना करना पड़ सकता है।


गौरतलब है कि निजी अस्पतालों द्वारा कोरोना मरीजों से अधिक बिल की वसूली का मामला संक्रमण काल की शुरुवात से गरमाया हुआ था। तत्कालीन आयुक्त विजय सिंघल ने अस्पतालों के लिए दर निर्धारित की थी और उसे मई के पहले सप्ताह में लागू किया गया था। उसके बावजूद अस्पताल ओवर चार्जिंग से बाज नहीं आ रहे थे। जिसके चलते वर्तमान आयुक्त डॉक्टर विपिन शर्मा के निर्देश पर आठ ऑडिटरों की नियुक्ति अस्पतालों के बिल की जाँच के लिए की गयी थी। लेखाविभाग ने पाया कि 10 जुलाई से 21 अगस्त के बीच कुल 4106 बिलों में से 3347 बिलों की जांच 1362 बिल ऐसे पाए गए थे जिनमें अधिक वसूली साफ नजर आ रही थी। जिसे लेकर लेखाविभाग ने आपत्ति जताई है।


मनपा द्वारा भेजे गए नोटिस के आधार पर इन अस्पतालों ने की अधिक वसूली ?


अस्पताल : वसूल की गई अधिक रकम



  • होरायझन : 5463039/-

  • कौशल्या : 2025000/-

  • ठाणे हेल्थ केयर : 1436000/-

  • लाइफ केयर : 216000/-

  • सिद्धि विनायक : 339000/-

  • पाणंदीकर : 4000/-

  • स्वस्तिक : 289000/-

  • एकता : 1674000/-

  • बेथनी : 1898000/-

  • आरोग्य मल्टीस्पेशलिस्ट : 23450/-

  • वेदांत : 1738000/-

  • सफायर : 1873000/-

  • कालसेकर : 762000/-

  • स्वयम : 71506/- और मानपाड़ा स्थित दो अस्पतालों की कुल 1176000 का समावेश है।


अस्पतालों में देखरख रखने की प्रक्रिया नियमित शुरू है। जिसके कारण आगामी समय में अधिक बिल की वसूली की रकम बढ़ सकती है। मनपा प्रशासन पूरी तरह प्रयासरत है कि अस्पतालों द्वारा कोरोना मरीजों से अधिक अतिरिक्त बिल की रकम वापस दिलाया जाए। जिसके लिए नोटिस भेजा गया है और आगे की कार्यवाही के संबधित विभाग को आदेशित किया गया है.”


डॉ विपिन शर्मा (आयुक्त-ठाणे मनपा) मनसे ने पुलिस आयुक्त से की आपराधिक मामला दर्ज करने की मांग वहीँ दूसरी तरफ मनसे के ठाणे शहर अध्यक्ष रविंद्र मोरे ने पुलिस आयुक्त विवेक फणसलकर को पत्र लिखकर उपर्युक्त अस्पतालों के विरुद्ध मरीजों के साथ तहजी करने के लिए आपराधिक मामला दर्ज करने की मांग की है। मोरे ने आयुक्त को भेजे पात्र में कहा है कि उपर्युक्त अस्पतालों ने जानबूझकर कोरोना के संक्रमण काल के दौरान मरीजों की कमजोरी का फायदा उठाकर उन्हें ठगने का प्रयास किया है।इसलिए ऐसे अस्पतालों के विरुद्ध कानूनन कार्रवाई किया जाना चाहिए। जिससे भविष्य में अन्य अस्पताल ऐसा न कर सकें और इन्हे सबक मिले।


Comments