कलेक्टर ने की समय-सीमा पत्रों की समीक्षा


रिपोर्ट : निर्णय तिवारी


छतरपुर : कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में टी.एल. पत्रों की समीक्षा बैठक हुई। इस अवसर पर कलेक्टर ने लंबित टी.एल. और सीएम हेल्पलाइन प्रकरणों की विभागवार विस्तृत समीक्षा कर अधिकारियों को समय-सीमा में प्रकरण निराकरण के लिए निर्देशित किया। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को एक सप्ताह में जबाव प्रस्तुत नहीं करने पर कारण बताओ नोटिस जारी करने की सख्त हिदायत भी दी। बैठक में अनुपस्थित रहे अधिकारियों को स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश भी दिए गए।


कलेक्टर ने सिविल सर्जन को कायाकल्प अभियान और आयुष्मान कार्ड की प्रगति संबंधी अद्यतन जानकारी की एण्ट्री पूर्ण कराने के निर्देश दिए। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के परियोजना क्रियान्वयन इकाई द्वारा विभिन्न निर्माण कार्यों में लापरवाही बरतने पर नाराजगी जताई और अपूर्ण एवं प्रस्तावित निर्माण कार्य को समय-सीमा में पूर्ण करने एवं शिक्षा विभाग के निर्माण कार्यों की सूची प्रस्तुत करने को कहा। बताया गया कि आगामी 17 अगस्त से नियमित रूप से प्रति सोमवार को सुबह 11 बजे टी.एल. बैठक होगी।


जिला कलेक्टर द्वारा बैठक के दौरान उप संचालक पशु चिकित्सा सेवायें को एक सप्ताह में जिले की गौ-शालाओं का भ्रमण कर रिपोर्ट देने सहित तत्कालीन लवकुशनगर एसडीएम रमेश कुमार सिंह के कार्यकाल में अपात्रों को राहत राशि वितरण के संबंध में गौरिहार तहसीलदार से रिपोर्ट प्राप्त करने और सागर रोड स्थित श्री कृष्णा विश्वविद्यालय के पीजीडीएम पाठ्यक्रम में संस्था के चेयरमैन और कुलाधिपति की छात्रवृत्ति घोटाले में संलिप्तता की जांच के लिए संबंधित अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए गए।


कलेक्टर ने कहा कि सभी विभाग प्रमुख अब कोविड-19 से बचाव के लिए जरूरी सावधानी बरतते हुए पूर्व की भांति ही विभागीय और जनहितैषी कार्य सुचारू रूप से संपादित करना सुनिश्चित करें। आगामी दिनों में विभागीय समीक्षा के दौरान कार्य के प्रति लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बैठक में जिला पंचायत सीईओ हिमांशु चन्द्र, अपर कलेक्टर प्रेम सिंह चौहान, एसडीएम बी.बी. गंगेले सहित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।


Comments