कलेक्टर ने दिव्यांगजनों को यूनिक आईडी सुविधा का लाभ प्रदान करने के दिए निर्देश


रिपोर्ट : निर्णय तिवारी


छतरपुर : कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने छतरपुर जिले के दिव्यांगजनों को यूनिक आईडी सुविधा का लाभ प्रदान करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने आज निःशक्तजन एवं सामाजिक कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान बैठक में उपस्थित नगरीय निकायों के सीएमओ और जनपद पंचायत सीईओ से इस संबंध में अब तक हुई प्रगति के बारे में जानकारी ली और कहा कि समग्र सुरक्षा विस्तार अधिकारियों के माध्यम से डोर-टू-डोर सर्वे कर सुविधा के लाभ के लिए दिव्यांगजनों को चिन्हित करें।


कलेक्टर ने कहा कि आधार कार्ड और निःशक्तता प्रमाण पत्र वाले हितग्राहियों को केवाईसी के बाद नए प्रपत्र में जानकारी भरकर त्वरित रूप से लाभांवित करें। इसी तरह जिन दिव्यांगजनों के पास वर्तमान में किन्ही कारणोंवश निःशक्तता का प्रमाण पत्र नहीं है उन्हें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से समन्वय कर मेडिकल बोर्ड से प्रमाण पत्र जारी करवाने की कार्यवाही सुनिश्चित करें। इसी तरह विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी द्वारा भी दिव्यांगजनों के चिन्हांकन की कार्यवाही की जाए। इस कार्य के लिए जनपद पंचायत स्तर पर शिविर लगाने के निर्देश भी दिए। किसी भी कार्यवाही के दौरान अनावश्यक भीड़ एकत्रित न होने का ध्यान भी रखें। उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में यूनिक आईडी के जरिए ही निःशक्तजनों को पेंशन और अन्य शासकीय सुविधाओं का लाभ दिया जाना प्रस्तावित है। इसलिए इस कार्य में लापरवाही न बरतें।


कलेक्टर ने कहा कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना और पेंशन योजनाओं के लिए भी पात्र हितग्राहियों के चयन में पारदर्शिता बरती जाए। इसके अलावा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत सीएमओ और सीईओ को आगामी 31 अगस्त के पहले हितग्राहियों के आधार सीडिंग का कार्य प्राथमिकता के साथ शत-प्रतिशत पूर्ण करने के निर्देश भी दिए गए। इस दौरान पात्र परिवारों के सभी सदस्यों का पीओएस मशीन के जरिए सत्यापन कार्य किया जाएगा। बैठक में जिला पंचायत सीईओ हिमांशु चन्द्र, सामाजिक न्याय विभाग की प्रभारी अधिकारी प्रियांशी भंवर सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।


Comments