कानून से खिलवाड़ करना पड़ेगा भारी डीएम, एसपी ने दी चेतावनी


रिपोर्ट : निर्णय तिवारी


छतरपुर : शहर में दिनों दिन बढ़ रहे भ्रष्टाचार एवं भू माफियाओं के आतंक की खबरें आम हो गई हैं। जिस पर ना तो प्रशासन कुछ कर पा रहा है और ना ही शासन के निर्देशों का पालन हो रहा है। इन भूमाफिया एवं भ्रष्टाचारियों और मिलावटखोरों में कहीं भी शासन का डर देखने को नहीं मिलता, जिसकी कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। इस भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए छतरपुर कलेक्टर ने अभियान शुरू कर दिया है। जिसके अंतर्गत सरकारी जमीन है एवं गुंडों बदमाशों के द्वारा सामाजिक गतिविधियां मिलावटखोरों और महिलाओं पर अत्याचार जैसे घटनाओं पर रोक लगाने के प्रयास अभियान की शुरुआत हो गई है। उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार की घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। अतः जो भी उन पर उचित कार्यवाही जो न्यायपालिका द्वारा दर्शाई गई है, कड़ी से कड़ी कार्यवाही कराई जाएगी और आगे शहर में इन घटनाओं की रोकथाम के लिए प्रयास किए जाएंगे।


एसपी ने जानकारी में बताया कि जिला बदर 107/116 अवैध शराब हथियार एवं सरकारी जमीनों पर कब्जा करने वालों पर कार्यवाही हुई है और लगातार जारी रहेगी। कलेक्टर पत्रकारों से जानकारी में बताया कोरोना महामारी में संक्रमण की रोकथाम के लिए जो व्यवस्थाएं की जा सकती थी कि गई। जिससे कई प्रकार की अफवाहें भी फैली। अब जब लॉक डाउन की स्थिति सामान्य की तरफ बढ़ रही है, तो जो भी पत्रकार अस्पताल में जाकर इन पर किस प्रकार इलाज किया जा रहा है एवं अस्पताल की सुविधाएं और असुविधाएं देखना चाहते हैं या कोविड सेंटर का निरीक्षण करना चाहते हैं, वह निरीक्षण करने जा सकते हैं। कलेक्टर सिंह ने बताया कि किसी भी व्यक्ति को घर में कोरेन्टीन की सुविधा नहीं दी जा सकती। क्योंकि इससे परिवार में महामारी संक्रमण फैलने का खतरा बना रहता है। अतः इसकी रोकथाम हेतु शासन के जो नियम है, उनके अनुसार लोगों को कुछ सुविधाएं दी जा सकती हैं। जिसमें जो व्यक्ति अपने व्यय पर किसी बड़े प्राइवेट अस्पताल में इलाज कराना चाहता है, तो उसे इलाज कराने की इजाजत दी जा सकती है।


Comments