एम पूर्व में गार्डनो की अनदेखी के काऱण दुर्व्यवस्था का शिकार, जालियां टूटी और छत गायब, शाम ढलते ही चरसियों और गारदुल्लो का कब्जा


मुंबई : एम पूर्व मनपा अंतर्गत आने वाले गार्डनों की गार्डन विभाग की अनदेखी के चलते दुर्व्यवस्था का शिकार हो चला है। मनपा एम पूर्व शिवाजीनगर मानखुर्द विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत सपा विधायक अबु असीम आज़मी के विधानसभा क्षेत्र में आने वाले गार्डनों की हालत बहुत बुरी हो चुकी है। सूत्रों के अनुसार वार्ड क्रमांक 135 में एमएमआरडीए का मानखुर्द मंडाला इंदिरानगर 30 फिट रोड गणेश मंदिर के आगे मैदान में रोजना सुबह से लेकर शाम देर रात तक नशेडियों की गांजा, सुल्ली, दारू की पार्टियां होती है मानखुर्द पुलिस स्टेशन के अधिकारियों की जानकारी में।



स्थानीय जनता की अगर माने तो न ही गार्डनों की दुर्दशा के लिये एम पूर्व का गार्डन विभाग के कार्यस्थ अधिकारी गंभीर है और न ही क्षेत्रीय सपा नगरसेवक व सपा विधायक अबु असीम आज़मी ने मामले को गंभीरता से ले रहे है। इतना ही नहीं रोजाना शाम होते ही एम पूर्व के विभाग के गार्डनों में सुल्ली, बटन, चरसियों गारदुल्लो का कब्जा हो जाता है। जिसके कारण गार्डनों की पगडंडियों से शाम होते ही कोई भी महिलाओं और लड़कियों को अपनी सुरक्षा का डर सताने लगता है। कहा जाता है कि नशेड़ीयो का डर विभाग में आने वाले तकरीबन हर गार्डनों में इंदिनों बरसात में शराब पुणे वालों से लेकर अन्य तरह के नशेड़ी आये दिन लड़ाई झगड़ा घातक हथियारों से लैश होकर उसकी खुले में नुमाइश कर के जनता के दिलो में डर व दहशत पैदा करते है। जिससे क्षेत्र की जनता को गार्डनों के आस पास से गुजरने को लेकर सुरक्षा रामभरोसे जान पड़ रही है।



कहा जाता है कि नशेडियों के आतंक का शिकार कई गार्डन के सुरक्षा रक्षकों पर नशेड़ीयो ने जानलेवा हमला तक बोल चुके है।परिणाम स्वरूप एम पूर्व की पूर्व में एक नगरसेविका ने झोपड़पट्टी बहुल क्षेत्र होने के कारण नशेडियों का जमावड़ा मो देखते हुए गार्डन के सुरक्षा रक्षक को लाईसेंसी असलहों से लैस किये जायें। मामले में माता रमाई अंबेडकर गार्डन की दुर्दशा को लेकर जब स्थानीय विधायक अबु असीम आज़मी सहित एम पूर्व के गार्डन विभाग के अधिकारियों से संपर्क किया गया तो संपर्क नहीं हो पाया है। पूर्व में माता रमाई गार्डन में व्याप्त दुर्दशा को लेकर शिकायत मनपा के गार्डन कमिटि के अध्यक्ष उमेश माने तक किया था।उन्होंने तत्काल गार्डन की तूती जालियां और टूटे शेड को दुरुस्त करवाकर गार्डनों को नशेड़ीयो के आतंक से निजात दिलाने के लिये आश्वाशन दिया था। परंतु लॉक डाउन के कारण मामला खटाई में पड़ गया। जिसके कारण एम पूर्व के गार्डन जहां और दुर्व्यवस्था के कारण आंसू बहाने पर मजबूर है, तो वहीं कम जनता विशेषकर महिलाओं और लड़कियों का गार्डन के फुटपाथ से निकलना दुश्वार हो चुका है।


Comments