भूखंड धोखाधड़ी मामले में पैंसठ वर्षीय बुजुर्ग आरोपी पुलिस हिरासत मे


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : द्वारका नॉर्थ थाने में एक पीड़ित किशोर चंद अग्रवाल ने शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया उनके साथ प्रॉपर्टी मामले में धोखाधड़ी की गई है शिकायत के आधार पर द्वारका एसपी राजेंद्र सिंह के दिशा-निर्देशानुसार एसएचओ विजेंद्र सिंह के नेतृत्व में एसआई पीआर हुड्डा ने इस भूखंड धोखाधड़ी मामले में पूरी तरह से गहन-निष्क्रिय जांच करने पर अभय वीर बत्रा द्वारा दिखाए गए (भूखंड) प्लॉट के कागजात को पूरी तरह से जाली पाए जाने पर धोखाधडी आरोप मे अभय वीर बत्रा को पुलिस हिरासत में ले लिया । द्वारका एडिशनल डीसीपी आरपी मीणा के अनुसार आरोपी अभयवीर बत्रा उम्र (65) हरिनगर का निवासी है,जो पहले से भूखंड धोखाधड़ी के सत्रह-केसो में लिप्त है,सारे मामले अलग-अलग थाने जिसमें जनकपुरी,नांगलोई,उत्तरी वसंत कुंज,नबी करीम के अलावा हरी नगर में ज्यादातर मामले आरोपी के नाम दर्ज हैं । पुलिस पूछताछ दौरान आरोपी ने अपना गुनाह कबूलते हुए बताया, वह ज्यादातर खाली-प्लॉट जिनके मालिक दिल्ली से बाहर रहते थे,वह अपने साथ जुड़े लोगों की मदद से उन प्लाट के जाली-पेपर अपने नाम से बनवाकर (भूखंड) प्लॉट-मालिकों को बलैकमेल के जरिए अच्छी खासी फिरौती वसूल करने के बाद उस (भूखंड) प्लाट को दोबारा से बेच देता था ।



क्रम दौरान इसने पीड़ित किशोर चंद अग्रवाल के प्लॉट के नकली कागजात किसी गीता शर्मा गाजियाबाद के नाम से बनवा रखे थे,पुलिस द्वारा जमीनी कागजात में लिखे गए गीता शर्मा के पते पर जाने पर उन्हें किसी गीता शर्मा का कोई सुराग नहीं मिला पुलिस जांच प्रक्रिया में आरोपी द्वारा पेश किए गए सारे जमीनी-कागजात को पूरी तरह से जाली पाया गया । द्वारका-नॉर्थ पुलिस द्वारा जांच-प्रक्रिया में पाया गया आरोपी मासूम लोगों की जमीनों के नकली कागजात बनाकर (जबरन-कब्जा) करके ब्लैकमेल करके प्रॉपर्टी मालिक से मोटी रकम वसूलने के बाद उनकी जमीन को दोबारा आगे बेच देता था । द्वारका नॉर्थ पुलिस भूखंड धोखाधड़ी को ध्यान में रखते हुए आईपीसी धारा तहत 420/471/ 467/120(B)/34 मामला दर्ज कर आरोपी से आगे की गहन तफ्तीश करने में जुटी है


Comments