बारह साल की मासूम बच्ची के साथ हुए घृणित-कुकृत्य के फरार दुष्कर्मी को पुलिस ने 48 घंटे के अंदर किया गिरफ्तार



रिपोर्ट : अनिता गुलेरिया

दिल्ली : पश्चिम-विहार (वेस्ट) के पीरागढ़ी इलाके में चार अगस्त को हुए अमानवीय अति-शर्मनाक व दर्दनाक-कुकृत्य हादसे की शिकार बारह साल की मासूम पीड़िता जिसकी हालत अब भी अति-नाजुक वह गंभीर बनी हुई है और देश के सबसे बड़े अस्पताल (एम्स) में जिंदगी और मौत के बीच लड़ाई लड़ रही है। इस घृणित-कार्य को अंजाम देने के बाद फरार हुए आरोपी की धरपकड़ के लिए बाहरी जिला उपायुक्त डॉ ए.कोन के नेतृत्व में जिले की बीस पुलिस की संयुक्त टीमे दिन-रात अपराधी पर शिकंजा कसने हेतु लगी हुई थी।



इस अमानवीय-कुकृत्य को देखते हुए डीसीपी डॉ ए.कोन पूरी गंभीरता से खुद इस घृणित व घातकीय मामले की गहन-जांच में जुटे थे, और उसी का नतीजा यह हुआ वहशी-दरिंदे को पुलिस हिरासत में ले लिया गया है। वेस्टर्न रेंज कमिश्नर शालिनी सिंह ने पूरी तरह से ब्लाइंड केस को 48 घंटे के अंदर सुलझाने पर डीसीपी डाॅ ए.कोन के उर्जस्वी व अग्रसरित कार्य की जमकर तारीफ करते हुए कहा, मुझे अपने जांबाज ऑफिसर पर पूरा भरोसा था, उनके द्वारा की गई अग्रसरित कार्यशैली वाकई में काबिले तारीफ है। कमिश्नर शालिनी सिंह ने मीडिया-समक्ष बताते हुए कहा पकडे गए घातक अपराधी का नाम कृष्ण उम्र (33) जिस पर पहले से हत्या व हत्या की कोशिश के चार-अपराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस कड़ी पूछताछ दौरान आरोपी ने बच्ची के साथ की गई बर्बरता की बात को कबूला है पश्चिम-विहार वेस्ट पुलिस द्वारा (पोक्सो) व हत्या की कोशिश मामले के मद्देनजर आईपीसी की धारा तहत मामला दर्ज कर आरोपी से आगे की गहन-तफ्तीश जारी है।


Comments