अमेरिका से लौटी छात्रा की मनचलों की छेड़खानी से बचने के दौरान सड़क हादसे में दर्दनाक मौत


सड़क हादसे में सुदीक्षा की मौत, चाचा के साथ बाइक से जा रही थीं, बुलेट सवार युवक कर रहे थे पीछा


बुलंदशहर : यूपी के बुलंदशहर में एक छात्रा की सड़क हादसे में मौत हो गई. स्कॉलरशिप पर अमेरिका में पढ़ाई करने वाली ये छात्रा अपने चाचा के साथ जा रही थी, तभी उनकी स्कूटी बुलेट से टकरा गई और मौके पर ही छात्रा की मौत हो गई. हालांकि, बताया जा रहा है कि ये कोई आम सड़क हादसा नहीं है.


गौतमबुद्ध नगर के दादरी की रहने वाली सुदीक्षा भाटी एक होनहार छात्रा थीं. वो स्कॉलरशिप पर अमेरिका के बॉब्सन में पढ़ाई कर रही थीं. हाल ही में वो छुट्टियों में घर आई हुई थीं. जब ये हादसा हुआ तब सुदीक्षा अपने चाचा के साथ बाइक पर मामा के घर औरंगाबाद जा रही थीं.


सुदीक्षा भाटी के परिजनों का आरोप है कि जब बाइक से वह औरांगबाद जा रहे थे, तब उनकी बाइक का बुलेट सवार दो युवकों ने पीछा किया. कभी युवक अपनी बुलेट को आगे निकालते तो कभी छात्रा पर कमेंट पास करते. इतना ही नहीं, ये सिरफिर चलते-चलते स्टंट भी कर रहे थे.



इसी दौरान अचानक बुलेट सवार युवकों ने अपनी बाइक का ब्रेक लगा दिया और बुलेट की टक्कर सुदीक्षा की बाइक से हो गई. बाइक गिर गई और सुदीक्षा घायल हो गईं. सुदीक्षा ने मौके पर ही दम तोड़ दिया.


इस मसले पर बुलंदशहर पुलिस का कहना है कि छेड़छाड़ की कोई घटना प्रत्यदर्शी या मृतक छात्रा के साथ रहे लोगों ने तत्काल नहीं दी थी. साथ ही पुलिस का यह भी कहना है कि बाइक को मृतक छात्रा का भाई चला रहा था, उनके चाचा उस वक्त बाइक पर नहीं थे. पुलिस का कहना है कि मृतक पक्ष ने कल एक तहरीर दे दी थी लेकिन उसको वापस ले लिया गया. अभी तक तहरीर नहीं दी गई है इसलिए मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है, फिर भी पुलिस यह कह रही है कि विधिक कार्यवाही की जा रही है.


20 अगस्त को लौटना था अमेरिका


सुदीक्षा को 20 अगस्त को अमेरिका वापस जाना था. इससे पहले ही सड़क हादसे में उनकी जान चली गई. बता दें कि देश की टॉप आई टी कंपनी की तरफ से अमेरिका पढ़ने के लिए 3.80 करोड़ रुपये की स्कॉलरशिप दी गई है.


गौतमबुद्ध नगर के दादरी तहसील की रहने वाली सुदीक्षा बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखती हैं. सुदीक्षा के पिता ढाबा चलाते हैं. सुदीक्षा ने बेसिक शिक्षा विभाग के परिषदीय स्कूल से कक्षा पांच तक पढ़ाई की. प्रवेश परीक्षा के जरिये सुदीक्षा का एडमिशन एचसीएल के मालिक शिव नदार के सिकंदराबाद स्थित स्कूल में हुआ था. सुदीक्षा ने कक्षा 12 में बुलंदशहर टॉप किया और इसके बाद उच्च शिक्षा के लिए उनका चयन अमेरिका के एक कॉलेज में हुआ. पढ़ाई के लिए सुदीक्षा को एचसीएल की तरफ से 3.80 करोड़ रुपये की स्कॉलरशिप भी दी गयी थी.


Comments