3 माह के वेतन न मिलने से अध्यापकों में आक्रोश


दोषियो पर कार्यवाही के लिए, आस ने शिक्षा मंत्री आयुक्त व सांसद वीडी शर्मा को भेजा ज्ञापन


रिपोर्ट : निर्णय तिवारी


छतरपुर : महीनों से वेतन न मिलने और अधिकारियों द्वारा कोई पहल न करने के कारण अब जिले के अध्यापकों के सब्र का बांध टूटने लगा है। सबसे अधिक परेशानी नौगांव विकास खण्ड के अध्यापक झेल रहे हैं। जहाँ तीन महीनों से वेतन नही मिला है। इतना ही नही नौगांव के आक्रोशित अध्यापकों का आरोप है कि वेतन देने में उनके साथ भेदभाव किया जाता है। यही कारण है कि यहाँ शिक्षकों का वेतन मिल चुका है। जबकि अध्यापकों को तीन महीनों से नही मिला।


आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष अनुपम त्रिपाठी ने बताया कि ईद व रक्षा बंधन के त्योहार बिना वेतन के मनाने के बाद अब जिले के अध्यापकों की आर्थिक स्थिति अत्यंत दयनीय हो गई है। जिससे उनमे आक्रोश पनप रहा है। स्थानीय स्तर पर अधिकारियों से निवेदन करने के बाद भी समस्या का हल नही निकल सका। जिससे मजबूर होकर संघ ने स्कूल शिक्षा मंत्री स्वतन्त्र प्रभार, आयुक्त लोक शिक्षण भोपाल व खजुराहो सांसद वीडी शर्मा को ज्ञापन भेजें हैं। ज्ञापन में बताया गया है कि कोरोना काल मे भी अध्यापक डिजिलेप व हमारा घर हमारा विद्यालय योजनाओं का क्रियान्वयन कर रहे है जिसके चलते जिले की रेंक बहुत अच्छी है। साथ ही बड़ी संख्या में अध्यापक कोरोना सर्वे, क्वारेन्टीन केंद्रों व कंटेन्मेंट क्षेत्रों में ड्यूटी कर रहें हैं। इसके बावजूद जिले में अध्यापकों को दो माह से वेतन नहीं मिल सका। जबकि नौगांव विकास खण्ड में तो मई का वेतन भी अध्यापको को नहीं मिल सका क्योंकि यहाँ अध्यापक संवर्ग के पे विल बनाने में बहुत देर की गई है। जिससे बजट ही खत्म हो गया। ज्ञापन में तीन माह से वेतन न मिलने के मामले की जांच कराकर दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की मांग की गई है।


Comments