15 अगस्त से विशेष वसूली अभियान शुरु


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


औरंगाबाद : कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते शहर में मार्च एंड से जारी लॉकडाउन से करों की राशि वसूलने का काम पूरी तरह ठप्प पड़ा हुआ है. वसूली न होने से मनपा की तिजोरी खाली पड़ी हुई है. लॉकडाउन काल में मनपा प्रशासन ने बड़े बकाएदारों की सूची तैयार की है. मनपा कमिश्नर आस्तिककुमार पांडेय ने 15 अगस्त से विशेष वसूली अभियान शुरु करने का निर्णय लिया है. जिन बकाएदारों की 1 लाख से अधिक की करों की राशि बकाया है, उनसे करों की राशि वसूलने के लिए प्रशासन द्वारा पूरे प्रयास किए जाएंगे.


बीते 4 माह से लॉकडाउन जारी होने से मनपा का कोई भी अधिकारी और कर्मचारी बकाया करों की राशि वसूलने के लिए सड़कों पर नहीं उतरे. मार्च एंड से पूर्व मनपा की तिजोरी में हर दिन 30 से 40 लाख रुपए जमा होते हैं, लेकिन यह वसूली ऑनलाइन द्वारा प्रतिदिन 5 से 6 लाख रुपए की है. वसूली न होने से शहर में विकास कार्य पूरी तरह ठप्प पड़ा हुआ है. मनपा कमिश्नर आस्तिककुमार पांडेय ने बताया कि मनपा प्रशासन ने 15 अगस्त से विशेष वसूली अभियान शुरु करने का निर्णय लिया है. इस निर्णय के तहत वसूली पर विशेष लक्ष्य केन्द्रीत किया जाएगा. वसूली न होने से शहर में विकास कार्य ठप्प पड़े हुए हैं.


बड़े बकायादारों की प्रभाग वाइज सूची तैयार की गई है. प्रशासन के अधिकारी सबसे पहले व्यावसायिक संपत्तियों से कर वसूलेंगे. उसके बाद अर्ध व्यावसायिक और अंत में निवासी संपत्ति धारकों से कर वसूलेंगे. अंत में पांडेय ने बताया कि मनपा ने संपत्ति धारकों को लगाए करों को लेकर कई संपत्ति धारकों ने न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है. कई मामले न्यायालय में प्रलंबित होने से करोड़ो रुपए की राशि कर के रुप में आना बाकी है. ऐसे में इन मामलों पर समझौता करने के लिए जल्द ही कर अदालतों का आयोजन किया जाएगा. इसका फायदा औरंगाबाद वासियों  ने लेने की अपील मनपा कमिश्नर पांडेय ने की है.


Comments