Unnao : ग्राम पंचायत में प्रधान द्वारा हो रहे भ्रष्टाचार के विरोध में जिलाधिकारी को दिया शिकायत पत्र


रिपोर्ट : तनवीर खान 


उन्नाव, (उ0प्र0) : जहां पूरे भारतवर्ष में कोरोना  वायरस की महामारी से देश जूझरहा है वहीं दूसरी ओर  भ्रष्टाचार अपने चरम सीमा पर है ताज़ा मामला ग्राम पंचायत मदनापुर विकासखंड हसनगंज उन्नाव का है। जहाँ के निवासी मिथिलेश कुमार ने जिलाधिकारी रविंद्र कुमार को गाँव मे हो रहे भ्रष्टाचार से अवगत कराया।


जिसमे उन्होंने जिला अधिकारी को लिखित शिकायती प्रार्थनापत्र मे कहा है कि होम कवरटाइम मजदूरों को फर्जी तरीके से रोजगार देने का पेमेंट खाते में डालने के संबंध में।


पेट्रोल पंप पर नौकरी कर रहे हैं लोगों के खाते में मनरेगा का पैसा भेजा गया।


बिना कार्य कराए बिना खोदे तालाब के नाम पर वह पक्की नाली के निर्माण के नाम पर फर्जी तरीके से पैसा  निकाला जा रहा है।



उन्होंने अपने लिखित शिकायत पत्र मे यह भी कहा है कि निवासी ग्राम पंचायत मदनापुर हसनगंज अनिल कुमार यादव पुत्र राम यादव जोकि प्रधान प्रताप शंकर यादव का भाई हैं, शराब ठेका गंगा बैराज में चल रहा है और साथ ही साथ मनरेगा में फर्जी फार्म भरकर धन खाते में लेकर लाभ उठा रहे हैं।


ग्राम पंचायत मदनापुर के स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय का घटिया सामग्री से निर्माण कराया गया। ग्राम प्रधान प्रताप यादव व मंत्री आशीष यादव की मिलीभगत से शौचालयों का घटिया निर्माण किया गया जो कि सभी शौचालय जर्जर हालत में मौजूद हैं उपयोग में नहीं है। उक्त खबर को एक समाचार पत्र में प्रकाशित किया गया था जिस पर भी कोई कार्यवाही नहीं की गई।


इसके पूर्व भी कई बार ब्लॉक स्तर पर शिकायत की गई, परंतु कोई कार्यवाही ना हुई। जिस कारण उन्नाव जिलाधिकारी से मिलकर हो रहे भ्रष्टाचार से अवगत कराया व जिलाधिकारी द्वारा तुरंत ही जांच के आदेश संबंधित अधिकारी को दे दिए गए।


Comments