Unnao : 50 लाख एवं उससे अधिक की धनराशि से निर्माणाधीन परियोजनाओं की जिलाधिकारी ने की समीक्षा


रिपोर्ट : तनवीर खान 


उन्नाव, (उ0प्र0) : जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने विकास भवन सभागार में जनपद में 50 लाख एवं उससे अधिक की धनराशि से निर्माणाधीन परियोजनाओं की समीक्षा करते हुये, उपस्थित अधिकारियों एवं कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश दिये है कि कोविड-19 के दौरान जितने काम बन्द रहे है उन्हे चालू किये जाये तथा उन परियोजनाओं की प्रगति को बढाया जाये। ताकि सरकार की योजनाओं का लाभ आम जन मानस को मिल सके।


जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश देते हुये कहा कि मा0 मुख्यमंत्री उ0प्र0 के स्पष्ट आदेश है कि जो निर्माणाधीन परियोजनायें बन्द पड़ी है उन्हें तत्काल चालू कराई जाये। ताकि प्रवासी श्रमिको को रोजगार मिल सके। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि किन-किन परियोजनाओं में कितने प्रवासी श्रमिक काम कर रहे हैं उसकी सूचना तत्काल उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दिये। जो भी परियोजनायें निर्माणाधीन है और बजट प्राप्त हो गया है समय-सीमा के अन्दर कार्य पूरा कराया जाये। अनियमित्ता पाये जाने पर सम्बन्धित के विरूद्ध कडी़ कार्यवाही किये जाने के संकेत दिये।


जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों एवं सम्बन्धित कार्यदायी संस्थाओं से विभागवार निर्माणाधीन परियोजनाओं में ग्रामीण स्टेडियम बचुआ खेड़ा, गुरूधरी तथा ग्राम पंचायत लोटना के निर्माण एवं अब तक की गई कार्यवाही को जाना तथा बाउण्ड्ररी वाॅल एवं अन्य कार्य समय से पूरे कराये जाने को कहा गंजमुरादाबाद एवं रसूलपुर रूरी तथा अन्य गांव में बन रहे पी0एच0सी0 का निर्माण कार्य की प्रगति, बांगरमऊ में बन रहे आई0टी0आई0, आश्रय योजना के निर्माण पर विस्तार से चर्चा की तथा सिचाई विभाग द्वारा नहरो की सफाई बन्द एवं चालू होने एवं नहरों की पुर्नस्थापना एवं पक्के कार्यों की मरम्मत, माध्यमिक शिक्षा विभाग में जनपद के कई हाई स्कूल एवं इंटर स्तर के निर्माणाधीन भवनों को यू0पी0पी0सी0एल0 द्वारा कराये जा रहे निर्माण कार्य को उपस्थित इन्जीनियर तथा कार्यदायी संस्था द्वारा जिलाधिकारी को आश्वस्थ करते हुये कहा कि समय सीमा के अन्दर कार्य पूरा करा लिया जायेगा। अधिकतर निर्माणाधीन स्कूलों की स्थित सही नही पायी गई।


जिलाधिकारी ने जल निगम द्वारा नगर में निर्माणाधीन अमृत योजना के तहत कराये जा रहे कार्याें को समय से पूरा करने एवं नगर में खुदी सड़को को तत्काल गढ्ढा मुक्त एवं सडको की मरम्मत का कार्य तत्काल पूरा करने के निर्देश दिये गये। अमृत योजना के तहत गंगा बैराज के माध्यम से पेय जल योेजना को तत्काल पूरा कराया जाये। अमृत योजना फेज-02 के तहत नगरीय क्षेत्रो में जलापूर्ति तथा नगर में चिन्हित पार्को का निर्माण तत्काल पूरा कराये जाने के निर्देश दिये गये। यू0पी0 डेस्को, पैक्सपेड़, यू0पी0एस0आई0सी0 तथा आवास विकास आदि कार्यदायी संस्थाओं को सौपे गये कार्यों की बारीकी से समीक्षा की। जिस पर काई कार्यदायी संस्थाओं का कार्य संतोष जनक न पाये जाने पर जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी तथा सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि शासन को पत्र भेज कर कार्यदायी संस्थाओं की लापरवाही से अवगत कराया जाये। मुख्य विकास अधिकारी डा0 राजेश कुमार प्रजापति को निर्देश दिये कि जिन निर्माणाधीन परियोजनाओं की प्रगति सन्तोष जनक एवं मानक के अनुरूप नही है। कमेंटी बनाकर स्थलीय निरीक्षण कर अवगत कराया जाये। उन्होंने बताया कि नवाबगंज पक्षी बिहार के वन कालोनी के आवासों के जीणौद्वार कार्यों को तत्काल पूरा करने के निर्देश दिये।


माॅ चन्द्रिका देवी मन्दिर के आस पास के निर्माण कार्य एवं घाटों का निर्माण तथा परिसर में गेस्टहाउस के निर्माण को तत्काल पूरा करने के निर्देश दिये। अन्य परियोजनाओं को चालू कराने एवं भौतिक प्रगति को युद्ध स्तर पर कार्य पूरा करने के निर्देश दिये गये। गंगा ऐक्सप्रेस वेें का निर्माण, गडढा मुक्त सडको का निर्माण, ग्रामीण पेयजल योजना, राजकीय छात्रा वास नवाबगंज का निर्माण, सिकन्दर पुर सरोसी सौलर वेस्ट मिनी वाटर स्पलाई, राजकीय बालिका डिग्री कालेज, आसरा योजना, राजकीय महा विद्यालय का निर्माण, बृहद गो संरक्षण केन्द्र, अनावासी भवन के निर्माण, अग्नि शमन केन्द्र का निर्माण, पार्कों का सौन्द्रीयकरण जैसे महत्व पूर्ण निर्माणाधीन परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की।


जिलाधिकारी ने  अधिकारियों को निर्देश दिये कि वित्तीय  वर्ष  2019-20 एवं वर्ष 2020-21 में स्वीकृत कार्य हेतु बजट आवंटित हुआ है। जिनके विभाग में मार्च में बजट आवंटन होने के बाद अब तक कितना बजट व्यय हुआ है, कितना शेष है जिन्हें अभी तक बजट नही प्राप्त हुआ है ऐसे लोग तत्काल कार्यवाही से शासन को अवगत कराये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 राजेश कुमार प्रजापति, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 आशुतोष कुमार, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 प्रमोद कुमार सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक  राकेश कुमार पाण्डेय, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी  राज दीप वर्मा, उप निदेशक सूचना डा0 मधु ताम्बे सहित सम्बन्धित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी गण आदि उपस्थित थे।


Comments