सास की हत्या के जुर्म मे तिहाड़ जेल में बंद आरोपित दामाद ने खुद को लगाई फांसी


चार दिन पहले सास की नुकीले औजार से की थी हत्या


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : पिछले चार दिन पहले सास की हत्या करने वाले आरोपित दामाद ने शुक्रवार को तिहाड़ जेल नंबर 4 मे चादर का फंदा बनाते हुए फांसी पर झूल गया। आत्महत्या करने वाले वाले आरोपित का नाम रवि था। द्वारका जिला उपायुक्त अटो अलफोंस अनुसार पिछले दिनों आरोपित मृतक रवि ने अपनी बुजुर्ग सास शशि बाला उम्र (62) की नुकीले औजार से घातकनुमा वार करते हुए हत्या कर दी थी। मोहन गार्डन पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद उसे तिहाड़ जेल भेज दिया था।


बता दें, मोहन गार्डन पुलिस को देर रात बारह बजे के करीब सूचना मिली एक शख्स ने अपनी सास सहित तीन घर के लोगों को किसी नुकीले हथियार से बुरी तरह से घायल कर दिया है। सूचना मिलते ही नजफगढ़ एसीपी विजय सिंह के दिशा-निर्देशन में एसएचओ बलजीत सिंह ने उस समय इलाके में गश्त लगा रहे सिपाहियों को मौके वारदात पर पहुंचने को सूचित किया। सिपाही संदीप व अश्वनी ने तत्परता दिखाते हुए घटनास्थल वाली जगह से भाग रहे आरोपी को दबोच लिया था। बुरी तरह से घायल बुजुर्ग शशि बाला उम्र (62) की तारक अस्पताल में इलाज दौरान मौत हो गई थी। इंस्पेक्टर अरुण कुमार और एएसआई मनोज कुमार ने वारदात वाली जगह पर बीच बचाव में आए उनके रिश्तेदार, उसकी पत्नी व दस साल के घायल बच्चे को दीनदयाल अस्पताल में भर्ती करवाया। वारदात में इस्तेमाल नुकीले हथियार को जब्त करते हुए मुजरिम को पुलिस हिरासत में ले लिया था।


द्वारका उपायुक्त अंटो अलफोंस अनुसार पकड़े गए अभियुक्त का नाम रवि उम्र (38) मोहन गार्डन से, इस पर पहले से उतम नगर मे हत्या, बलात्कार (पोस्को) व गैर इरादतन-हत्या जैसे मामले दर्ज हैं। पुलिस पूछताछ दौरान आरोपी ने अपना गुनाह-कबूलते हुए बताया उसे नशे की बुरी लत थी। वह रेप केस में नौ महीने जेल में बंद था। तब से उसकी पत्नी अपनी बच्ची को लेकर अपनी मां के घर रही थी, जैसे ही वह जमानत पर जेल से बाहर आया। उसकी पत्नी उसके साथ रहने को तैयार नहीं थी। कई बार कोशिश करने के बावजूद उसे लगता था, उसकी सास उसकी पत्नी को उसके पास नहीं आने दे रही है। वारदात वाले दिन आरोपी पहले से प्लानिंग बनाकर अपने ससुराल गया। उसने अपनी पत्नी को साथ चलने के लिए कहा जिसके लिए वह तैयार नहीं थी। इसी बात पर हुई झड़प में उसने बर्फ तोड़ने वाले नुकीले औजार से अपनी बुजुर्ग सास शशि बाला के शरीर पर कई नाजुक-हिस्सों पर घातक वार करते हुए मौत के घाट उतार दिया। मौके से फरार होने की कोशिश में वह पकड़ा गया। पुलिस द्वारा आईपीसी धारा तहत मामला दर्ज कर आरोपी को तिहाड़ जेल भेज दिया था। जहां उसने फांसी लगा खुदकुशी कर ली। बता दे कुछ महीने पहले एक आरोपित हत्यारी बहू में तिहाड़ जेल में खुद को फांसी लगाई थी। कैदियों द्वारा इस तरह जेल में फांसी लगाकर खुदकुशी करने जैसे मामले देश की सबसे बडी तिहाड़ जेल की लचर-व्यवस्था को खुद-ब-खुद बयां करते नजर आ रहे हैं।


Comments