सांसद गोपाल शेट्टी के स्वस्थ उपक्रम को मिली केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की हरि झंडी


रिपोर्ट : यशपाल शर्मा


मुंबई : पिछले दिनों जब अभिनेता अमिताभ बच्चन के कोरोना संक्रमण पाए जाने पर उन्ही का प्रसिद्ध डायलॉग खूब चर्चा में आया, वह था की "हम जहां खड़े हो जाते हैं , लाइन वहीं से शुरू होती है" अपितु यह भले ही एक फिल्मी डायलॉग हो परंतु उत्तर मुंबई के कुशाग्र बुद्धि सांसद गोपाल शेट्टी के कोरोना महामारी संकट से निपटने के तरीके को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनाया है और पूरे देश को इसके निर्देश जारी किए गए हैं। बात दर असल पूर्ण उत्तर मुंबई की जनता के लिए गौरव गाथा समान है।


कहा जाता है कि 17 जुलाई को भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय से कोरोना महामारी के संकट में अस्पतालों द्वारा मरिजो को समावेश करने के अभाव, मरीजों की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आरडब्लूए अर्थात रेजिडेंशियल वेलफेयर एसोसिएशन और सोसायटियों को एक दिशा निर्देश जारी किया गया है। इस गाइड लाइन के अनुसार, इमारतों में कोरोना संबंधी उपचार हो सके ऐसी चिकित्सा व्यवस्था करनी होगी। इस दिशा निर्देश के परिपत्र में विस्तृत रूप से कौन-कौन से उपकरण, खाटो के साथ, ऑक्सिजन एवम् प्राथमिक सर्व चिकित्सा व्यवस्था करनी होगी। कहा जाता है कि उत्तर मुंबई के सांसद गोपाल शेट्टी जी के दिमाग में सबसे पहले यह विचार जून महीने की चार तारीख को ही आ गया था। उन्होंने तुरंत महा नगरपालिका से बहुमंजिला इमारतों में, मनपा की बंद जगहों पर, और संस्थाओं के सम्मेलन हॉल में कोरोना उपचार संबंधी कोविड केयर सेंटर की अनुमति मांग ली। महाराष्ट्र राज्य की भयावह स्थिति में यह मरुभूमि में जल की व्यवस्था समान उपक्रम था। सांसद गोपाल शेट्टी जी ने पांच जून को सर्व प्रथम ऐसा कोवि़ड सेंटर विश्वदीप, हाइट्स, महावीर नगर, कांदिवली पश्चिम में, बेड, डॉक्टर्स, पीपीई किट, सेल्फ कंटेंन शौचालय से संलग्न खुलवाया और पूर्ण उत्तर मुंबई को अपील की प्रत्येक सोसायटी अपने अपने सम्मेलन हॉल, जिम्नेशियम अथवा एक्स्ट्रा स्पेस में कोविद् सेंटर, का निर्माण करें।


उल्लेखनीय तौर पर देखते ही देखते भाजपा सांसद गोपाल शेट्टी  के इस अनूठे उपक्रम को पूरे उत्तर मुंबई के नागरिकों ने अपनाया और आज ऐसे दर्जनो कॉवीड सेंटर खड़े हो गए हैं ।वहीं आज जब भारत सरकार ने इस अनूठे उपक्रम को अपनाया है तब उत्तर मुंबई की जनता जनार्दन के बीच अब यही चर्चा जोर पकड़ लिया है कि गोपाल शेट्टी  जहां खड़े हो जाते हैं ,लाइन वही से शुरू होती है। उल्लेखनीय तौर पर भाजपा सांसद गोपाल शेट्टी के कामकाज के तरीके का, उनकी पहल का स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा अनुकरण होने पर उत्तर मुंबई के डॉक्टर वर्ग ने भी गर्व महसूस किया और प्रशंसनीय कार्य की भूरी भुरी प्रशंसा की है। कोरोना संक्रमण काल में अपने ही परिसर में अस्पताल निर्माण के द्वारा नागरिकों के मनोबल को मजबूत करने का काम साहसी सांसद गोपाल शेट्टी ने किया है।


Comments