फोन पर व्यापारी से दो करोड़ की फिरौती मांगने वाले दो अभियुक्तों को बिंदापुर पुलिस ने स्विफ्ट कार सहित दबोचा


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : बिंदापुर पुलिस को एक बिजनेसमैन उम्र (40) ने शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया उसे कई दिनों से बख्तावर नामक शख्स द्वारा फोन पर दो करोड़ फिरौती की मांग करते हुए जान से मारने की धमकी मिल रही है। शिकायत दर्ज करते ही डाबड़ी एसीपी बिजेंद्र सिंह के दिशा निर्देशानुसार अनुसार व एसएचओ सतीश कुमार की अगुवाई में बनी मजबूत टीम जिसमें एसआई दुर्गेश, एएसआई शुभम चौधरी, हेड-कांस्टेबल विशाल कांस्टेबल इंद्र, संदीप, नरेश को आरोपियों पर धरपकड़ हेतु लगाया गया। पुलिस टीम ने मोबाइल फोन की डिटेल निकालते हुए रजिस्ट्र सिम नामांकित शख्स को पकड़ा पुलिस पूछताछ दौरान उपरोक्त युवक ने एक साल पहले मोबाइल व सिम खो जाने के कागजात सबूत के तौर पर दिखाएं। पुलिस टीम ने अन्य नंबर से आई फिरौती कॉल डिटेल को अपने सूचना-तंत्र माध्यमों से सही लोकेशन की पुख्ता जानकारी जुटाकर जाल-बिछाते हुए दो अभियुक्तों को हिरासत में लिया।


द्वारका उपायुक्त अंटो अलफोंस के अनुसार पकड़े गए दोनों आरोपियों की पहचान रविंद्र उम्र (37) उदय विहार व देवेंद्र उम्र (41) चंद्र विहार के रुप में हुई, दोनों आरोपी सगे भाई हैं। पुलिस कड़ी पूछताछ दौरान दोनों ने अपना गुनाह कबूलते हुए बताया लाकडाउन-दौर मे हुई आर्थिक तंगी के चलते हुए उन्हें पैसे की सख्त जरूरत थी। दोनों भाइयों  को शिकायतकर्ता बिजनेसमैन कि बहादुरगढ़ में बिजली के पार्ट बनाने की फैक्ट्री के बारे मे जानकारी थी। इन्होंने बिजनेसमैन को फिरौती का शिकार बनाने के लिए नई सिम खरीदकर फोन काल पर शिकायतकर्ता को बदला हुआ नाम (बख्तावर) बताते हुए सही लोकेशन का पता ना चल पाए इसके लिए दोनों ने चलती स्विफ्ट कार मे बैठकर दो करोड़ फिरौती की मांग करते हुए पुलिस को न बताने को धमकाया। तीसरी बार अन्य कॉल से फिरौती की मांग करते हुए जान से मारने की धमकी देने पर व्यापारी द्वारा पुलिस को सूचित करते ही बिंदापुर पुलिस ने दोनों मुजरिमों को ट्रैप लगाकर धर-दबोचा वारदात में इस्तेमाल की गई स्विफ्ट-कार और तीन मोबाइल फोन जब्त कर पुलिस द्वारा साइबर-क्राइम वआईपीसी की धारा तहत मामला दर्ज कर आरोपियों से आगे की गहन तफ्तीश जारी है।


Comments