Mumbai : कर्ज में डूबी की गरीब जनता ने राज्य सरकार से  स्कूली फीस ,विद्युत बिल से राहत देने की मांग


रिपोर्ट : यशपाल शर्मा


मुंबई : कोरोना महामारी के कारण पिछले तीन माह से अधिक का समय  लॉकडावून में बीत गया है।लोगों का धंधा,व्यापार और कामकाज सब ठप्प पड़ा हुआ है।चारों ओर नजर उठाकर देखो क्या गरीब और क्या माध्य्म वर्गीय परिवारों के सम्मुख अपने परिवार का पेट पालने की नौबत आ चुकी है ।वर्तमान समय मे लोकल ट्रेन बंद होने से नौकरी पेशे वालो के पास कोई काम-काज नहीं है ,घरों में बैठकर लॉक डाउन का पालन कर रही है जनता नौकरी काम धाम न होने से भला कहाँ और कैसे भरेंगें लाइट बिल, स्कूल के बच्चो की फीस,एडमिशन करवायेंगे।


ऐसे में भुखमरी की कगार पर पहुंच चुकी मुंबई की झोपड़पट्टियों की गरीब जनता को विद्युत बिल और बच्चों के स्कूल फीस से राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार के मुक्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उपमुख्यमंत्री अजित पवार, ऊर्जा मंत्री नितिन राउत व शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ आयेश फाउंडेशन नामक सामाजिक संस्था के अध्यक्ष हाफिज खान ने अपने संस्था के पदाधिकारियों के शिष्ट मंडल के तौर पर मिलकर किया है। वहीं दूसरी ओर उपरोक्त मामले में अन्य राजनीतिक दल के नेताओं ने सामूहिक तौर पर एक मंच पर सामूहिक तौर पर आकर राज्य के मंत्रियों से मिलकर मुंबई करी जनता की उपरोक्त समस्या को राज्य सरकार तक पहुंचाने का प्रयास  किया है ।


Comments