Mumbai : गोवंडी की सड़कों पर खुलेआम बिक रहा नशीला पदार्थ व गुटका


मुंबई : कोरोना लॉक डाउन  के पिछले तीन महीनों के दौरान तीन बडे-बडे गुटका माफियाओं के खिलाफ पुलिस कार्रवाई होने के बाद भी ,गोवंडी की सड़कों पर खुलेआम बिक रहा नशीला पदार्थ व गुटका। सुत्रों के अनुसार पुलिस से बचने के लिये नशीले पदार्थो व गुटके की तस्करी कचरे की गाड़ियों में होने लगी है। कहा जाता है कि मानखुर्द में पकडी गई प्रतिबंधित तंबाखू,उसके बाद क्राइम ब्रांच यूनिट 4 के पुलिस अधिकारीयो ने मंडाला इंदिरानगर 30 फिट में राजेश गुटका माफिया को प्रतिबंधित 49 लाख कॅश तथा 5 लाख के ऊपर गुटका की बरामदगी किया था। वहीं सूत्रों के अनुसार गोवंडी शिवाजीनगर के गीता विकास स्कूल के सामने एक तंदूरी चाय वाले के यहां से काफी मात्रा में गुटके की बोरियां बरामद किया गया था। लोकल पुलिस थाने के अधिकारियों ने बाद में मामला रफ़ा-दाफा कर दिया था। क्षेत्रीय सामजसेवी संगठनों, मंडलों ने गोवंडी के विभिन्न राहीवासिय झोपट्टी बहुल क्षेत्रों की गली गली सड़को पर बिकने वाले गुटके पर राज्य की उद्धव सरकार से तुरंत कार्रवाई करने की मांग की है।



राज्य के ग्रह मंत्री अनिल देशमुख मामले को गंभीरता दिखाते हुए संबंधित विभाग पुलिस महकमे को गुटके के मामले में सक्ति से गुटका तस्करी करने वाले माफियाओ पर कड़ी कार्रवाई करें। जिससे कोरोना की पाश्वर भूमि पर बंदी के दौरान स्वस्थ के लिये हानिकारक गुटके का सेवन कर किसी जानलेवा बीमारी के संपर्क में न आ जाये।सूत्रों के कानून को ताक में रखकर गुटका बेचने वाले अधिकतर गुंडे प्रवृत्ती के है ,जो रकहिवासिय क्षेत्रों में अपनी दबंगाई धारदार हथियारों की नोक पर , बेखौफ होकर लोकल पुलिस कर्मियों को हफ्ता देकर खुले आम गुटका बेचने में सक्रिय है  ।कुछ ऐसा ही मामला गोवंडी राहीवासिय क्षेत्रों में नशीले पदार्थो का भी है ,आसामाजिक तत्तवों द्वारा खुले आम शिवाजीनगर, निरंकारी नगर 90-फ़ीट रोड मानखुर्द,मंडाला,टाटानगर गौतमनगर सहित कई जगहों पर सुल्ली,बटन, कोरेक्स जैसी प्रतिबंधित नशीली दावों की खुले आम कला बाजारी कर के युवाओ को नशेड़ी बनाने का काम कर रहे है ।


Comments