Mumbai : बारिस ने खोली बीएमसी की पोल, तेज बारिश से सड़कों पर हो गए बड़े-बड़े खड्डे 



रिपोर्ट : रितेश वाघेला


मुंबई : आर्थिक राजधानी कही जाने वाली माया नगरी मुंबई में पिछले कई दिनों से मूसलाधार बारिस हो रही है और तेज बारिस के चलते मुंबई के कई निचले इलाकों में पानी भर गया जिसके कारण जन जीवन अस्त व्यस्त और यातायात बाधित हुआ। बृहन्मुंबई महानगर पालिका का दावा हर साल की तरह इस साल भी फेल होता दिखाई दे रहा है। 



मुंबई में तेज बारिस के कारण मुंबई के सड़कों पर बड़े बड़े खड्डे हो गए हैं और उन खड्डों में पानी भरा होने के कारण राहगीरों को चलने और यातायात बाधित हो रहा है। सड़कों पर पानी भरे हुए खड्डों के कारण सबसे ज्यादा छोटी टेम्पो, टू व्हीलर वालों को परेशानी हो रही है। खड्डों के कारण मुंबईकरो की परेशानी बढ़ रही है और असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है। सड़कों की मरम्मत कार्य और मुंबईकरो की परेशानी को दूर करने के लिए बीएमसी को जल्दी ही एक्शन में आना होगा।



बृहन्मुंबई महानगर पालिका के/पूर्व के अंतर्गत सड़कों पर भारी बारिस के कारण बड़े बड़े खड्डे हो गए है जिसके कारण आवागमन में बड़ी समस्या उत्पन्न हो रही है। अंधेरी पूर्व नियर हाइवे कुर्ला रोड, नियर वेस्टर्न एक्सप्रेस मेट्रो स्टेशन रोड का हालत बहुत खराब हो चुके हैं। अंधेरी ईस्ट हाइवे और अंधेरी विरार रोड पर बड़े बड़े खड्डे हो गए हैं।



मुंबई को आर्थिक राजधानी कहा जाता है और बीएमसी को सबसे ज्यादा पैकेज मिलता है लेकिन बारिस हर साल बीएमसी के द्वारा किये गए दावों को धरासाई कर देती है, दो दिनों की बारिस में ही मुंबई में पानी भर जाता है इतना ही जलजमाव के साथ साथ कचरों के ढेर की गंदगी से उत्पन्न होने वाली बीमारियां अपने पांव पसारने लगती है जिनमें सर्दी, खांसी, तेज बुखार, डेंगू, मलेरिया, मुख्य रूप से प्रभावित करती है, यदि  बृहन्मुंबई महानगर पालिका ( बीएमसी ) जल्दी ही एक्शन में नहीं आती है तो कोरोना काल मे उक्त बीमारियां बहुत प्रभावित करेंगी ।




Comments