Mirzapur : निमोनिया की अब खैर नही एक वैक्सीन और मिली, मीरजापुर समेत 56 जिलों में 8 अगस्त को होगी लांच


निमोनिया से मासूमों का बचाव जल्द होगा


रिपोर्ट : टी0सी0 विश्वकर्मा


मिर्जापुर, (उ0प्र0) : जनपद के तमाम नवजात शिशुओं को अब निमोनिया से होने वाले जान के खतरें से अधिक समय तक लड़ना नही पड़ेगा। बच्चों को निमोनिया से बचाने के लिए जनपद के 9 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, 46 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, 186 सबसेन्टरों समेत मण्डलीय चिकित्सालय में मुफ्त लगाया जायेगा। न्यूमोकोकल बैक्टीरिया से होने वाले निमोनिया व अन्य बीमारियों से बचाव के लिए हर प्रकार से बच्चों के लिए सुरक्षित वैक्सीन को स्वास्थ्य विभाग द्वारा 8 अगस्त को मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा लांच किया जायेगा।


मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ओ0पी0 तिवारी ने बताया कि इस वैक्सीन के लिए विभागीय स्तर पर प्रशिक्षण व तैयारी भी प्रारम्भ कर दिया है। इस पीसीवी वैक्सीन पर दो दिवसीय वर्चुअल कार्याशाला 24 व 25 जुलाई को होनी है। जिसमें जनपद के अपर मुख्य चिकित्साधिकारियों के अलावा जिले के दो दर्जन डाक्टरों को वैक्सीन सम्बन्धी जानकारी विश्व स्वास्थ्य संगठन के विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षित किया जायेगा। 8 अगस्त के बाद यह जिले के हर स्वास्थ्य केन्द्रो पर बिल्कुल निशुल्क उपलब्ध होगी। इसके लिए लाभार्थी को अपने नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों पर जाकर टीका लगवाने का कार्य करना पड़ेगा। टीकाकरण अभियान में 2019-2020 में जिले में कुल 64872 बच्चों को चिन्हित किया गया था जिसमें 58493 बच्चों को सफलतापूर्वक टीकाकरण किया गया है।


अपर मुख्य चिकित्साधिकारी /प्रतिरक्षण अधिकारी डा0 नीलेश श्रीवास्तव ने बताया कि इस समय देश व प्रदेश के लाखों बच्चें केवल निमोनिया के चपेट में आकर अपनी जान गवा देते है। इसलिए विभाग द्वारा चलाये जा रहे नियमित टीकाकरण में पीसीवी को शामिल करने का निर्णय लिया गया है। इस टीके को लगाने से बच्चों को निमोनिया, डायरिया जैसे तमाम गंम्भीर बीमारियों से बचाया जा सकेगा। जनपद स्तर पर मण्डलीय चिकित्सालय में इस वैक्सीन की पहली डोज के साथ शुरू किया जायेगा। इस टीके के आ जाने से निमोनिया, सर्दी, जुखाम, मस्तिष्तक बुखार को रोका जा सकेगा। अभी तक बच्चों में लगने वाले बीसीजी, ओरल पोलियो, हेपेटाइटिस बी, पेनटावैनेलट, ओपीवी, एफआईपीवी, पीसीबी, रोटावायरस, एमआर, मिजिलेल्स, रूबेला व विटामिन ए का टीका लगाया जाता रहा है।


मीरजापुर जनपद के कन्हईपुर ग्राम निवासी संगीता देवी पत्नी हरिदास ने बताया कि इनको 8 अगस्त 2019 को एक बच्चे ने जन्म लिया। इनका कहना था कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र चुनार में जन्म के समय तीन टीके लगाये गये, उसके बाद डेढ माह होने पर पांच टीके लगाये गये। ढाईमाह पूर्ण होने पर साढे तीन माह उसके बाद 9 माह पूर्ण होने पर भी टीके लगाये जो बिल्कुल निशुल्क लगाये गये, आज उन्ही टीको के वजह से हमारा बच्चा बिल्कुल स्वस्थ्य है।


Comments