जलभराव समस्या प्रति प्रशासन विभाग गैर जिम्मेदाराना रवैया


पदाधिकारियों की अनदेखी से भयंकर रोग संक्रमण का बढ़ा खतरा


रिपोर्ट : अनामिका झा


दरभंगा : जिला के बिरौल-प्रखंड के अंतर्गत पोखराम उत्तरी पंचायत के वार्ड 16,12,माँ कमलेश्वरी गह्वर के पास चार वर्षों से जल जलभराव की स्थिति का लगातार बनी हुई है गंदे-नाले की समस्या के चलते,यहां पर बिना बारिश के भी पूरे रोड पर पानी का जमाव रहने से,लोगों को हर दिन  जलमग्न होना पड़ता है,यहां हर साल बारिश के मौसम में तो रोड क्या,गांव मे घरों के अंदर पानी भर जाता है और लोगों को अति भयंकर स्थिति का सामना करना पड़ता है इस बार की बारिश में कई दिनों से लोगों के घरों के अंदर पानी भर जाने से समस्त गांव पूरी तरह से जलमग्न हुआ नजर आ रहा है,लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है लेकिन इसके बावजूद क्षेत्रीय व पंचायत-जनप्रतिनिधियों द्वारा लोगों को झूठे-आश्वासन देने के इलावा आज तक जलभराव समस्या पर कतई ध्यान नहीं दिया गया,प्रशासन के हर विभाग में गुहार लगा चुके स्थानीय निवासियों ने भारी रोष-व्यक्त करते हुए कहा गांव में कई दिनों से जलभराव की समस्या बनी हुई है जिससे महिलाओ,छोटे बच्चों बुजुर्गों सभी को दिक्कतें आ रही हैं व इतने दिनों से पानी के जमाव की वजह से लोगों के कच्चे घर गिरने की कगार पर है,लेकिन प्रशासन-विभाग के किसी भी नुमाइंदे ने उनके गांव में अभी तक कोई दौरा नहीं किया और ना ही किसी तरह की कोई सुध ली है बुरी तरह से बेहाल-पीड़ित ग्रामीणों ने सरकार से गुहार लगाते हुए कहा,काफी दिनों से गंदे नाले के जलभराव से हैजा इत्यादि भयंकर रोग-संक्रमण का खतरा निरंतर बना हुआ है चुनाव के समय हर नेता ने चार महीने के अंदर इस नाले का काम करने का झूठा-आश्वासन देते हुए वोट लेकर (लोट) होने के इवाला कुछ नहीं किया,चार साल से अभी तक हमारी समस्या का समाधान किसी सरकारी नुमाइंदे द्वारा नहीं किया गया,क्या सरकार के लिए हम मात्र वोट-बैंक हैं ? क्या सुगमता-तहत यह है सरकार का लोगों के प्रति जन-संरक्षण ? नवभारत युवा सामाजिक संगठन (NYSS) एवं स्थानीय ग्रामीणों के द्वारा हर बार जिला पदाधिकारी से लेकर प्रखंड-पदाधिकारी तक जलभराव की इस गंभीर-समस्या के प्रति लिखित-आवेदन देकर स्थिति से अवगत करवाने के बावजूद किसी तरह के  कोई कार्रवाई नहीं की गई,सैंकडो लोगो की जिंदगीयों के साथ हो रहे इस खिलवाड़ के असली दोषी सरकारी प्रशासन-विभाग के गैर जिम्मेदाराना जिला पदाधिकारी (डीएम) डाॅ त्यागराजन,प्रखंड पदाधिकारी (बीडीओ) जितेंद्र कुमार,अनुमंडल पदाधिकारी  (एसडीओ) ब्रजकिशोर लाल के अलावा क्षेत्रीय जन-प्रतिनिधि मुखिया प्रीति रत्नम मुख्य तौर पर जिम्मेदार होंगे,मीडिया-समक्ष  बोलते हुए ग्रामीण-निवासियों ने अपनी जिंदगियो पर मंडरा रहे भयंकर-खतरे के प्रति देश के प्रधानमंत्री के आगे गुहार लगाते हुए कहा,क्या हम भी इस देश के निवासी हैं ? यदि हैं तो हम चाहते हैं सरकार तुरंत हमारे गांव की समस्या की तरफ ध्यान देते हुए गैर-जिम्मेदाराना पदाधिकारियों के प्रति सख्त व उच्च-मापदंड के जरिए कार्यवाही करते हुए पोखराम-गांव की भयंकर व अति-गंभीर समस्या का जल्द समाधान करते हुए सैकड़ों जिंदगियों को मौत के मुंह में जाने से बचाएं ।


Comments