एन्टी करप्शन कमिटी ने कानपुर में शहीद हुए 8 पुलिस कर्मियों को एक करोड़ का मुआवजा व 1 व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने के लिए राष्ट्रपति को भेजा अनुरोध पत्र


मुंबई : एन्टी करप्शन कमिटी एलियस भ्रष्टाचार निर्मूलन समिति के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष सुजीत सिंह, जनसम्पर्क अधिकारी महेंद्र मौर्या एवं समिति के पदाधिकारियो के द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष रविन्द्र द्विवेदी को भेजी रिपोर्ट के आधार पर राष्ट्रीय अध्यक्ष रविन्द्र द्विवेदी ने राष्ट्रपति को भेजा अनुरोध पत्र। पत्र में कहा गया है कि 60 केसों का अपराधी विकास दुबे 2 जुलाई 2020 को डी.एस.पी. एवं सी.ओ. कानपुर देहात देवेन्द्र मिश्रा एवं 3 सब इंस्पेक्टर एवं 4 सिपाही की हत्या कर डाला अपने मकान के पास जिसके खिलाफ रासका के तहत कार्यवाही करने के लिए मुख्यसचिव उत्तर प्रदेश को उचित दिशा निर्देश देने के लिए एवं 8 पुलिस वालो को एक करोड़ का मुआवजा देने के लिए और उनके परिवार के किसी भी 1 व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने के लिए अनुरोध किया गया है।


पत्र में बताया गया है कि कानपूर देहात पुलिस से शिकायत मिली की विकास दुबे काफी गुनाह किया और उसके खिलाफ कार्यवाही नहीं किया जा रहा है, जो वरिष्ठ पुलिस अधिकारियो के आदेश पर डी.एस.पी एवं सी. ओ. कानपूर देहात देवेन्द्र मिश्रा ने 1 टीम पुलिस की गठित किया और अपने सहयोगियों के साथ विकास दुबे के वहा गए जो विकास दुबे को पुलिस आने के विषय में पहले ही जानकारी मिल गयी थी विकास दुबे अपने घर पर खड़ी जे.सी.बी. को रास्ते में खड़ा कर दिया और पुलिस को रोकने की कोशिश किया और पुलिस के ऊपर अन्धा धुंद गोलिया चलाना चालू किया अपने 20 साथियो के साथ मिलकर जिसके वजह से डी.एस.पी. एवं सी.ओ. देवेन्द्र मिश्रा एवं 3 सब इंस्पेक्टर एवं 4 पुलिस सिपाही की घटना स्थल पर मृत्य हो गयी जो भारत में यह पहली घटना है की 8 पुलिसकर्मी उत्तर प्रदेश में हिस्ट्रीशीटर के हाथो मारे गए एवं थाना प्रभारी चौबेपुर थाना विकास दुबे को पहले से ही घटना की जानकारी दे दिया था की देवेन्द्र मिश्रा अपने साथियो के साथ विकास दुबे को गिरफ्तार करने जा रहे है जिसके वजह से 8 पुलिसकर्मी मारे गए


एन्टी करप्शन कमिटी एलियस भ्रष्टाचार निर्मूलन समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष रविन्द्र द्विवेदी अनुरोध किया है कि इस घटना की सी.बी.आई. से जाँच कराकर विकास दुबे और उसके 20 साथियो के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने के लिए उचित दिशानिर्देश देने का कष्ट करे जिससे उत्तर प्रदेश पुलिस के जो 8 जवान और पुलिस अधिकारी विकास दुबे के गुनाह के कारण अपने साथियो के साथ ड्यूटी पर रहते हुए शहीद होगए पुलिस वर्दी का पालन करते हुए और अपने ईमानदारी के साथ उनके आत्मा को शान्ति मिलसके और उनके परिवार को न्याय मिलसके और सभी पुलिस वालो को एक करोड़ रुपया का मुआवजा देने के लिए जिससे उनके बाल बच्चो का पालन पोषण हो सके और उनके परिवार के किसी भी 1 व्यक्ति को पुलिस विभाग में नौकरी देने के लिए अनुरोध किया गया है।


Comments