5 तरीके ताकि आप अपने ऐप से सुरक्षित ट्रेड कर सकें


स्रोत : एंजल ब्रोकिंग


कोरोनावायरस अब औपचारिक रूप से हमारे रोजमर्रा के संचार का एक हिस्सा बन चुका है। और होगा भी क्यों नहीं? वैश्विक अर्थव्यवस्था से लेकर हमारे सामाजिक जीवन तक - वायरस ने लगभग सब कुछ रोक दिया है। हमारा दिन तो जैसे-तैसे डिजिटल डिवाइस के सहारे चल रहा है और विशेष रूप से, हमारे स्मार्टफ़ोन से ही चल रहा है। स्मार्टफोन ने हमें न केवल अपने दोस्तों और परिवार से जोड़े रखा है, बल्कि ट्रेड और निवेश सहित रोजमर्रा की जरूरतों के लिए टेक्नोलॉजी-ड्रिवन सॉल्युशन के साथ हमें सशक्त बनाया है। इसलिए, जैसे-जैसे आप ऑल-न्यू डिजिटल ट्रेडिंग अवतार ले रहे हैं, यहां कुछ चीजें हैं जो आपको अपने स्मार्टफोन से सुरक्षित ट्रेड करने के लिए सुनिश्चित करनी चाहिए:



  1. अपने लॉगिन क्रेडेंशियल्स शेयर न करें : अपने लॉगिन क्रेडेंशियल कभी किसी से शेयर न करें। हालांकि, यह थोड़ा फंडामेंटल लग सकता है, लेकिन अक्सर देखा गया है कि कुछ ट्रेडर अपने लॉगिन क्रेडेंशियल को हल्के में लेते हैं। याद रखें, न तो आपका ब्रोकर और न ही आपका बैंक (या कोई भी) कभी भी आपसे ट्रेडिंग आईडी और पासवर्ड मांगेगा। यदि कोई भी आपके पास आकर इस तरह के अनुरोध करता है, तो तुरंत इसकी सूचना सर्विस प्रोवाइडर के साथ-साथ पुलिस को भी दें। इसी तरह, अपने क्रेडेंशियल्स को ऐसी जगह पर लिखने और स्टोर करने से बचें, जहां कोई और इसे देख सकता है। आपको डिजिटल और भौतिक दुनिया में अपने खाते की ऑलराउंड सुरक्षा सुनिश्चित करनी होगी।

  2. अपने पासवर्ड की सुरक्षा बढ़ाइये : अपने ट्रेडिंग खाते के लिए कमजोर पासवर्ड रखने से बचें क्योंकि इसे साइबरअटैकर हासिल कर सकता है। अल्फ़ान्यूमेरिक पासवर्ड का उपयोग करना आपके खाते के लिए उच्च स्तर की सुरक्षा सुनिश्चित करेगा। हालांकि, फाइनेंशियल सर्विस प्रोवाइडर इन दिनों स्वयं एक अल्फ़ान्यूमेरिक पासवर्ड अनिवार्य करते हैं। यदि वे ऐसा नहीं कर रहे तो भी आप जरूर यह सुनिश्चित करें। अपने नाम और जन्मदिन के संयोजन वाले सरल पासवर्ड का उपयोग कभी न करें। रचनात्मक बनें।

  3. रूटकिट इंस्टॉलेशन कभी न रखें : कई बार पेड एप्लिकेशन का मुफ्त ओवर-द-काउंटर वर्जन मिलने पर यह आकर्षक लग सकता है। हालांकि, जैसा कि यह केस स्टॉक ट्रेडिंग का है, अगर कोई डील बहुत ही अविश्वसनीय लग रही हो, तो वह सच नहीं ही होगी। इस तरह के ओवर-द-काउंटर वर्जन में या तो एप्लिकेशन-लेवल मालवेयर (एक नुकसान पहुंचाने वाला प्रोग्राम) है या इसे रूटकिट लेवल पर तैनात किया जाता है। किसी भी स्थिति में ऐसे एप्लिकेशन आपके फ़ोन के सुरक्षा ढांचे को दरकिनार करते हैं और आपकी क्रेडिट और अन्य संवेदनशील जानकारी को आसानी से निकाल सकते हैं। अंततः, ये ऐप इंस्टॉल करने पर पैसा बचता कम, नुकसान ज्यादा होता है। इसे टाला जाना चाहिए। यदि आपने ऐसा पहले किया है तो सुनिश्चित करें कि आपने अपने डिवाइस को फ़ैक्टरी डिफ़ॉल्ट पर रीस्टोर किया है।

  4. जनता के बीच में लॉगिंग करने से बचें : जब भी आप किसी सार्वजनिक स्थान पर अपने खाते में प्रवेश करते हैं, तो संभावना है कि कोई व्यक्ति आपके पासवर्ड को झांककर देख सकता है। आपका कीबोर्ड उन की को सामने लाता है, जिन्हें आप लगातार टाइप करते हैं। इससे आपका अल्फ़ान्यूमेरिक पासवर्ड भी निरर्थक हो जाता है। इसके अलावा, सार्वजनिक स्थानों पर मुफ्त हॉटस्पॉट का उपयोग करने से बचें, क्योंकि वे आपके डिवाइस को साइबर खतरों के प्रति संवेदनशील बनाते हैं।

  5. हर ट्रेड को सुरक्षित करें : ट्रेड करते समय बाजार समय-समय पर काफी अस्थिर हो सकते हैं। कोविड-19 के बाद का बाजार पूरी तरह से ऐसे ट्रेडिंग पैटर्न को दर्शा रहा है। अस्थिर अवधि के दौरान यदि आपका ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म मजबूत टेक्नोलॉजीकल इंफ्रास्ट्रक्चर से सपोर्टेड नहीं है तो डायनामिक लोड आपके प्लेटफार्म को क्षति पहुंचा सकता है। ऐसे मामलों में, आप अपने ट्रेड को पूरा नहीं कर सकेंगे और काफी हद तक नुकसान हो सकता है। तो, आपको हमेशा एक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म / मोबाइल ऐप पर भरोसा करना चाहिए जो आपके सभी ट्रेड्स को सुरक्षित रखें। ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के साथ खुद को रजिस्टर करने से पहले आपको इस संबंध में अच्छी तरह से शोध करना चाहिए। उन प्लेटफ़ॉर्म का उपयोग करने से बचें जिन्हें तकनीकी खामियों के लिए अक्सर जाना जाता है।


बस, इन सरल नियमों का पालन करें ताकि आप सुरक्षित रूप से ट्रेडिंग कर सकें और अपनी मेहनत की कमाई न खोएं। आखिरकार, बचाया हुआ हर एक रुपया आपकी कमाई है। 


Comments