विंध्याधाम में एक तीर्थ पुरोहित के परिवार व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिला, 2000 लोगों की होगी थर्मल स्क्रीनिंग


मिर्जापुर, (उ0प्र0) : जिले में कोरोना का कहर तेजी से फैलता जा रहा है। जिला प्रशासन एक तरफ जहां आम भक्तों के लिए माता विंध्यवासिनी का मंदिर खोलने की तैयारी में जुटा है, वहीं विंध्याचल कस्बे में एक तीर्थ पुरोहित के परिवार से जुड़ा व्यक्ति ही कोरोना संक्रमित पाया गया है। विंध्याचल मंदिर से कुछ दूरी पर कोरोना संक्रमित व्यक्ति का परिवार रहता है। जिला प्रशासन अब इलाके को हॉटस्पॉट घोषित कर लोगों की जांच करवाने में जुट गया है।


विंध्याचल धाम में कोरोना संक्रमित मरीज पाए जाने के बाद लोगों में हड़कम्प मचा हुआ है। प्रसिद्ध मां विंध्यवासिनी मंदिर से महज कुछ दूरी पर स्थित तीर्थ पुरोहित परिवार से जुड़ा एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया गया है। कोरोना संक्रमित व्यक्ति शहर में सस्ते गल्ले के कोटे की दुकान है। वह दुकान पर राशन बांटने का काम कर रहा था, जहां से कोरोना की आशंका में उसकी जांच कराई गई थी।


हॉटस्पॉट इलाके में 400 घरों के 2000 लोगों की होगी थर्मल स्क्रीनिंग


जांच के बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद घर पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एम्बुलेंस की मदद से उसे घर से नटवा स्थित कोविड अस्पताल में भर्ती कराया है। इसके साथ ही परिवार के लोगों को भी जांच के लिए क्वारैंटाइन किया गया है। वहीं, प्रशासन ने 250 मीटर के इलाके को संवेदनशील मानते हुए हॉटस्पॉट घोषित कर दिया है। इस इलाके के 400 घरों की थर्मल स्क्रीनिंग से जांच कराने के लिए 16 सदस्यीय आठ टीमों को लगाया गया है। टीम घर-घर जाकर जांच का काम कर रही हैं। टीम के साथ मौजूद डब्लूएचओ के अधिकारी प्रतोष दुबे का कहना है कि कुल दो हजार लोगों की जांच की जाएगी।


Comments