टिॅक-टाॅक जुवेनाइल स्टार को धमकाने वाले कुख्यात बदमाश को स्पेशल स्टाफ ने पिस्तौल व दो जिंदा कारतूस के साथ दबोचा, एक आरोपी जुवेनाइल


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : छावला थाने में छह जून को एक शिकायत दर्ज कराई गई एक जुवेनाइल टिॅक-टाॅक स्टार को पंडवाला कलां गांव में सरेआम दो युवकों द्वारा सरेआम मारपीट व धमकी दी गई है। टिक टॉक एप पर इस स्टार के असंख्य फॉलोअर्स हैं। गन-प्वाइंट पर मारपीट वारदात घटनाक्रम की बनी वीडियो वायरल हो गई जिसमे मास्क पहने युवक द्वारा जुवेनाइल को पीटा जा रहा है और उस पर बंदूक तान कर उसे मारने की धमकी दी जा रही है।


शिकायत के आधार पर ऑपरेशन एसीपी जोगिंद्र सिंह जून के दिशा-निर्देशन में स्पेशल स्टाफ इंस्पेक्टर नवीन कुमार की अगुवाई में एसआई रंजीव त्यागी, एएसआई हंस, एसआई उमेश हवलदार, अनिल, सिपाही जितेंद्र, कलभूषण, मनोज की टीम ने मुजरिमों पर शिकंजा कसने के लिए इलाके के सभी सीसीटीवी फुटेज खंगालते हुए। गहनता से छानबीन के जरिए अपने सूचना-तंत्र माध्यम से जानकारी जुटानी शुरू की। इसी बीच स्पेशल-स्टाफ टीम को गुप्त सूचना मिली इस मामले का आरोपी झटीकरा-रोड रेवला खानपुर की तरफ शाम छह से साढे-छह बजे के करीब आने वाला है।


स्पेशल-स्टाफ टीम ने बिना समय गवाए तुरंत कार्रवाई करते हुए झटीकरा-रोड पर जाल बिछाते हुए वारदात के मुख्य कुख्यात आरोपी को सोफिस्टिकेटेड पिस्तौल व दो जिंदा-कारतूस व घटनाक्रम का वीडियो शूट किए मोबाइल सहित दबोचते हुए हिरासत में लिया। द्वारका उपायुक्त अंटो अलफोंस अनुसार पकड़े गए आरोपी का नाम भूपेंद्र मान उम्र (22) इस पर कार जैकिंग का साउथ द्वारका में पहले से मामला दर्ज है। दूसरे नाबालिग आरोपी की उम्र (16) साल है। दोनों नजफगढ़ से हैं, पुलिस-कड़ी पूछताछ दौरान दोनों आरोपियों ने अपना जुर्म कबूलते हुए बताया। भूपेंद्रमान ने अपने दोस्त आशीष सहरावत उर्फ आशु जो कई तरह के घृणित मामलों में जेल में बंद है। उसके कहने पर उसने टिॅक-टाॅक स्टार को धमकाया था।


क्योंकि पीडित नाबालिग स्टार ने अपनी करीबी दोस्त जो आशीष सहरावत की गर्लफ्रेंड है को पटाया था। आशीष सहरावत उर्फ आशू जेल में रेप केस के मामले में बंद है। जब इस बात का आशीष को पता चला तो बदला लेने के लिए आशु ने भूपेंद्र मान से टिॅक टाॅक स्टार को धमकाने के लिए कहा। तभी भूपेंद्र मान अपने साथ एक जुवेनाइल को लेकर पंडवाला गांव पहुच गया। वहा उसने पीड़ित से गन प्वाइंट पर मारपीट करते हुए धमकाना शुरू किया और इस  घटनाक्रम का पूरा वीडियो दूसरे नाबालिग आरोपी से मोबाइल द्वारा शूट करवाया। इस तरह उसने मुंह पर मास्क लगाकर पीड़ित को मारते समय का वीडियो बनवाकर आशीष सहरावत को जेल में भिजवा दिया और फिर आशीष ने पीड़ित के पिटाई होते का वीडियो आगे वायरल कर दिया। कुछ दिनों बाद पीड़ित जो बुरी तरह से डरा सहमा था। वीडियो-वायरल होने के बाद उसने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस द्वारा जुवेनाइल के साथ हुई प्रताड़ना को देखते हुए पोक्सो-एक्ट व आईपीसी की धारा तहत मामला दर्ज करते हुए आगे की गहन तफ्तीश जारी है।


Comments